1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

फीडबैक

"हिंदी वेबसाइट से जर्मन भाषा सीखने की कोशिश"

डॉयचे वेले हिंदी का रिश्ता फेसबुक व वेबसाइट के जरिए अपने पाठकों से बना हुआ है. आशा करते हैं कि आपका हमारा साथ इसी तरह लम्बे समय के लिए बना रहे और फेसबुक के जरिए आप हम से जुड़ते रहें.

मुझे आपकी वेबसाइट काफी पसंद है. इसमें काफी जानकारी, खबरें और मालूमात होती हैं जिनको पढ़कर काफी जानकारी मिलती है. मैं इसके बारे में अपने दोस्तों को भी बता चुका हूं और वे भी इस साइट पर खबरें पढ़ते है. मैं आपकी क्विज प्रतियोगिता के बारे में जानना चाहता हूं और इनाम किस तरह मिलेगा उसके बारे में कुछ जानकारी दीजिए. मैं आपकी हिन्दी वेबसाइट के माध्यम से जर्मन भाषा भी सीखने की कोशिश कर रहा हूं.

अजी रशीद अली जहीन, ओखला, नई दिल्ली

----

"उम्मीद की उड़ान महाश्वेता देवी" - 9वीं या 10वीं की बात होगी, महाश्वेता देवी की एक कहानी हमारे हिन्दी पाठ्यपुस्तक में अध्याय के रूप में थी. आज इतना समय बीत गया लेकिन कहानी आज भी याद हैं. आज जयपुर बुक मेले की इस रिपोर्ट पर देवीजी की याद फिर ताजा हो गई. लुसी की अपनी लड़ाई याद आयी और साथ ही जो अध्यापक हमें पढ़ाते थे उनकी भी. स्कूल में वापस भेजने के लिए धन्यवाद ..

मनोज कामत, पुणे, महाराष्ट्र

----

मेरा नाम उमामा खान है. मैं फेसबुक पर आपसे अलीजा खान के नाम से जुड़ी हूं.आपकी वेबसाइट हर दिन कम से कम एक बार देख लेती हूं, आपकी साइट पर दी गयी खबरें व जानकारियां मुझे बहुत अच्छी लगती हैं. सवाल का निशान प्रतियोगिता में मैंने दो बार पुरस्कार भी जीता है, मासिक पहेली में नियमित हिस्सा लेती रहती हूं, कोशिश करुंगी कि फेसबुक पर आपके साथ ज्यादा वक्त बिता सकूं.
उमामा खान, जमलपुर, अलीगढ, उत्तर प्रदेश

----

आपको जानकार खुशी होगी कि मैं डॉयचे वेले का एक नियमित पाठक हूं और अत्यंत ही पसंद करता हूं. मैं ज्यादा पुराना पाठक तो नहीं पर हां दो वर्षों से मैं पढ़ रहा हूं. मेरे एक बांग्लादेशी मित्र ने सलाह दी थी और कई मायनों में उसने सही सलाह दी थी. सब कुछ ठीक होने के बावजूद मेरी बात यहां आकर अटक जाती है की मुझे जर्मन भाषा सीखने की बहुत अभिलाषा है और मैं यहां भारत के कोलकाता शहर में रहता हूं. अभी तक कोई सही स्रोत नहीं मिल सका है कि मैं जर्मन सीख सकूं. मैं आपसे गुजारिश करता हूं कि अगर आपके संज्ञान में ऐसी कोई संस्था हो जो मुझे यह भाषा सीखने में कोलकाता में मदद कर सके, कृपया मुझे बताएं. आशापूर्ण हूं कि भविष्य में मैं जर्मन भाषा में भी डॉयचे वेले को प्रेमपूर्वक पढ़ सकूंगा.
ऋषि गुप्ता, विदेश नीति संस्थान, कोलकाता विश्वविद्यालय,कोलकाता

----

मो. तस्लीम उद्दीन, नाओगांव, बांग्लादेश से जानना चाहते हैं कि जर्मनी का सबसे पुराना विश्वविध्यालय कौन सा है.


जर्मन शहर हाईडेलबर्ग में स्थापित 'रुपरेष्ट कार्ल यूनिवर्सिटी हाईडेलबर्ग' जर्मनी का सबसे पुराना विश्वविध्यालय है. आज दुनिया भर से कम से कम 28,000 छात्र यहां पढ़ते हैं.

----

डॉयचे वेले की वेबसाइट इन दिनों बहुत ही बेहतर रूप से खबरें प्रस्तुत कर रही है, खास खबर पर अनेक टिप्पणीयां पढ़ने को मिलती हैं जिसके द्वारा मुझे साइट के माध्यम से देश विदेश की नई से नई रोचक जानकारी मिलती है.

हेमलाल प्रजापति, सोनपुरी, जिला बिलासपुर, छत्तीसगढ

----

संकलनः विनोद चड्ढा

संपादनः ईशा भाटिया