1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

हार से आठ विकेट दूर भारत

सेंचुरियन टेस्ट में टीम इंडिया की मुश्किलें बरकरार हैं. दूसरी पारी की शुरुआत ठोस हुई. सहवाग, गंभीर के आउट होते ही संकट और दबाव बढ़ गया. शनिवार को दो विकेट खोकर 190 रन बनाने के बावजूद भारत अब भी 294 रन से पिछड़ा है.

default

620 रन पर दक्षिण अफ्रीका के पारी घोषित करते ही वीरू अपने अपने पार्टनर गौतम गंभीर के साथ मैदान पर उतरे. पहली गेंद से ही वह स्वाभाविक अंदाज में खेलते नजर आए. सहवाग के बल्ले से आठ खूबसूरत चौके और एक गगनभेदी छक्का निकला. इस तरह आसानी से 46 गेंदों में उन्होंने अर्धशतक जड़ दिया.

दूसरे छोर पर खड़े गौतम भी गंभीर अंदाज में बल्लेबाजी कर रहे हैं. वीरू के बाद उन्होंने रनों की रफ्तार बढ़ाई और पचासा जड़ा. इन दोनों के बढ़िया तालमेल की वजह से टीम इंडिया ने पहले विकेट के लिए 137 रन जोड़े. लेकिन इस मोड़ पर हैरिस सहवाग का बेशकीमती विकेट ले उड़े. वीरू 63 रन बनाकर आउट हुए.

थोड़ी ही देर बाद गौतम गंभीर भी गड़बड़ा गए. स्टेन ने शतक की ओर बढ़ रहे गंभीर के पैड में गेंद मारी और अंपायर ने अंगुली खड़ी कर दी. गौटी ने 80 रन बनाए. आखिरी सत्र में एक के बाद एक लगे झटकों से टीम पर थोड़ा दबाव आ गया.

लिहाजा विकेट को बचाने के लिए नाइटवाचमैन के तौर पर ईशांत शर्मा को भेजा गया. ईशांत और द्रविड़ अब रविवार सुबह मेजबान गेंदबाजों का सामना करेंगे. तीसरे दिन का खेल खत्म होने पर भारत का स्कोर दो विकेट के नुकसान पर 190 रन है. टीम अब भी 294 रन की लीड के नीचे दबी हुई है.

मैच बचाने के लिए टीम इंडिया को अभी दो दिन तक विकेट पर किसी न किसी तरह टिके रहना है और रन भी बनाने हैं.

इससे पहले शनिवार को अमला का विकेट गिरने के बाद डिवीलियर्स ने तूफानी पारी खेली उन्होंने 76 गेंदों पर शतक बनाया. जैसे ही डिवीलियर्स 129 रन बनाकर आउट हुए, ग्रैम स्मिथ ने पारी घोषित कर दी. दक्षिण अफ्रीका का स्कोर चार विकेट पर 620 रन रहा.

कमेंटेटर पहले ही कह चुके हैं कि पिच बल्लेबाजों के लिए माकूल हो गई है. जिस पिच पर कैलिस टिक कर रन बना सकते हैं, उस पर द्रविड़ और लक्ष्मण से भी लंबी खूबसूरत पारी की उम्मीद करना जायज है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: महेश झा

DW.COM

WWW-Links