1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

हार का दोष रैना ने बल्लेबाजों के माथे मढ़ा

जिम्बाब्वे से सात विकेट से हारने के बाद भारतीय टीम के कप्तान सुरेश रैना ने बल्लेबाजों को जिम्मेदार ठहराया है. रैना ने कहा कि टीम इंडिया को नहीं मिल रही बढ़िया शुरुआत. जिम्बाब्वे से लगातार दूसरी बार हारा भारत.

default

फाइनल का सफर मुश्किल हुआ

श्रीलंका के खिलाफ मिली जीत से आई खुशी अब उड़नछू हो चुकी है. निराश नजर आ रहे रैना ने कहा, "हमने बल्लेबाजी अच्छी नहीं की. सलामी बल्लेबाज अच्छी शुरुआत नहीं दे पा रहे हैं. पिछले दो मैचों में उन्होंने रन नहीं जुटाए. वैसे बाकी बल्लेबाजों ने भी कोई कमाल नहीं दिखाया."

Cricketspieler Suresh Raina

रैना का मानना है कि टीम को कम से कम 260-270 रन बनाने चाहिए थे. "जिम्बाब्वे ने बहुत अच्छी गेंदबाजी की. हमें शायद 260-270 रन बोर्ड पर चाहिए थे. हमें अपनी गलतियों से सीखना होगा और अगले मैच में अच्छा प्रदर्शन करना होगा."

जिम्बाब्वे के खिलाफ दूसरे मैच में भारतीय 40 ओवर भी पूरे नहीं खेल पाई और सिर्फ 195 रन पर ढेर हो गई. रवीन्द्र जडेजा के 51 रनों के अलावा सिर्फ दिनेश कार्तिक ही 33 रन बना सके. बाकी बल्लेबाजों की पारी शुरू तो हुई लेकिन जल्द ही ठहर भी गई. जिम्बाब्वे के सलामी बल्लेबाजों ने बेहतरीन खेल दिखाते हुए शतकीय साझेदारी की और आसानी से टीम को जीत के रास्ते पर ले गए.

इससे पहले भी ट्रायएंगुलर सीरिज के पहले मैच में भारत जिम्बाब्वे से 6 विकेट से हार गया था और अब दूसरी बार भी हार के चलते भारतीय टीम पर टूर्नामेंट से बाहर होने का खतरा मंडरा रहा है. शनिवार को भारत का मुकाबला श्रीलंका से होना है और अगर भारत उसमें भी नहीं जीता तो फिर उसकी वापसी का टिकट कट जाएगा.

रैना भी उस मैच की अहमियत मानते हैं. "वह हमारे लिए बेहद महत्वपूर्ण गेम हैं. श्रीलंका के पास बढ़िया टीम है और हमें अच्छा खेल दिखाना होगा. उम्मीद करता हूं कि हम ठीक खेलेंगे." जिम्बाब्वे के कप्तान एल्टन चिगुम्बुरा भारत को दो बार हराने से चहक रहे हैं और उन्होंने एंडी ब्लिगनॉट की गेंदबाजी और हैमिल्टन मसकादजा और ब्रैंडन टेलर की बल्लेबाजी की जमकर तारीफ की है.

मसकादजा और टेलर ने पहले विकेट के लिए 26.3 ओवर में 128 रन जोड़े जिससे जिम्बाब्वे की जीत लगभग सुनिश्चित हो गई थी. "हमारे खिलाड़ियों ने अच्छी गेंदबाजी की. खासतौर पर एंडी ब्लिगनॉट ने. हम सलामी बल्लेबाजों से अच्छी शुरुआत चाहते थे जो हमें मिली. उसी से जीत की नींव पड़ी और उसके बाद सब कुछ आसान होता चला गया."

ब्रैंडन टेलर को भारत के खिलाफ लगातार दूसरी बार मैन ऑफ द मैच का खिताब मिला है और इस सफलता पर उन्होंने खुशी जताई है. टेलर का कहना है कि श्रीलंका के खिलाफ खराब प्रदर्शन के बाद वापसी होना अच्छी अनुभूति है. हैमिल्टन मसकादजा की तारीफ करते हुए टेलर ने कहा कि वह शानदार हिटर हैं. लेकिन आज उन्होंने मसकादजा को भी पीछे छोड़ दिया. मसकादजा ने 66 और टेलर ने 74 रन ठोंके.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: उज्ज्वल भट्टाचार्य

संबंधित सामग्री