1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

हादसे के 60 साल बाद मिले शव

मलेशिया के विमान एमएच370 के गायब होने ने बाद सबका ध्यान विमानों की सुरक्षा की ओर चला गया है. लेकिन अतीत में भी विमानों के ऐसे हादसे होते रहे हैं, जिनमें लोगों का पता नहीं चला. अमेरिका में साठ साल बाद शव मिले हैं.

यह दुर्घटना 22 नवंबर 1952 को हुई. अमेरिकी वायुसेना का विमान डगलस सी-124 अलास्का की पहाड़ियों के ऊपर से गुजर रहा था. मौसम खराब होने की वजह से विमान का संतुलन बिगड़ा और उन पहाड़ियों में ही प्लेन क्रैश हो गया. इस दुर्घटना में विमान पर सवार सभी 52 यात्रियों की जान चली गयी. खराब मौसम के चलते राहतकार्य भी नहीं किया जा सका और ना ही सेना सभी लोगों के शवों को बरामद कर पाई.

अब छह दशक से भी ज्यादा समय बीत जाने के बाद 17 शव मिले हैं. रक्षा मंत्रालय और पेंटागन ने इसकी पुष्टि की है. सेना के वैज्ञानिकों ने शवों की जांच के लिए कई तरह के फॉरेंसिक टेस्ट का इस्तेमाल किया. पेंटागन का कहना है कि शवों के अवशेष परिवारों को लौटा दिए जाएंगे और पूरे सैन्य सम्मान के साथ उन्हें दफनाया जाएगा.

हादसे में मारे गए एक व्यक्ति की पोती ने दो साल पहले मामले की फिर से जांच का आग्रह किया. लेकिन उस समय उसे यह कह कर मना कर दिया गया कि ऐसा करना बहुत महंगा पड़ सकता है. सेना से मदद ना मिलने के बावजूद इस महिला ने अकेले ही बारह साल तक विमान की दुर्घटना पर रिसर्च किया.

महिला को तसल्ली तब मिली जब 2012 में अलास्का नेशनल गार्ड को विमान का मलबा मिला. उसके बाद एक रिपोर्ट जारी कर कहा गया कि 1952 में जांच दल को विमान का मलबा भी नहीं मिल पाया था क्योंकि विमान ग्लेशियर में धंस गया था. यह मलबा दुर्घटनास्थल से बीस किलोमीटर दूर मिला. रिपोर्ट के अनुसार, "हिमनदी में मलबा इस तरह से सुरक्षित रहा जैसे किसी कैप्सूल में रहा हो."

आईबी/एमजे (डीपीए)

संबंधित सामग्री