1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

हाथ मिलाओ और उम्र जान जाओ

हाथ देख कर किसी के बारे में जानने का दावा तो बहुत लोग करते हैं, पर हाथ मिला कर सामने वाले की उम्र, उसकी सेहत के बारे में पता लगाना अनोखी बात है.

भारत में ऐसे पेशेवर लोग हैं जो हाथों की रेखा पढ़ने का काम करते हैं. वे हस्तरेखा पढ़कर भविष्य या अतीत बताने का दावा करते हैं. कई लोग ऐसे भी हैं जो बिना ज्योतिषी सलाह के कोई बड़ा काम नहीं करते. अब अमेरिकी शोधकर्ताओं का कहना है कि सिर्फ हाथ मिलाने से उस शख्स के बारे में बहुत सी जानकारी मिल सकती हैं.

शोधकर्ताओं का कहना है कि हाथों को मिलाने की ताकत से यह पता चल सकता है कि वे व्यक्ति कितनी तेजी से बूढ़े हो रहे हैं, वे कितने शिक्षित हैं और साथ ही उनकी भविष्य में सेहत कैसी होगी. व्यावहारिक प्रणाली विश्लेषण के अंतरराष्ट्रीय संस्था के शोधकर्ताओं ने दुनिया भर में 50 से अधिक प्रकाशित अध्ययनों की समीक्षा के बाद प्लोस वन पत्रिका में रिपोर्ट छापी है.

शोधकर्ताओं ने पाया कि ज्यादा पढ़े लिखे 69 वर्षीय उसी पकड़ के साथ हाथ मिलाते हैं, जैसे कम पढ़े लिखे 65 वर्ष में हाथ मिलाते हैं. उनका सुझाव है कि बाद वाला शख्स करीब 4 साल की तेजी से बूढ़ा हो रहा है.

शोध के लेखक सरगई शेरबोव के मुताबिक, "हाथ मिलाने की ताकत के मुताबिक उच्च शिक्षा वाले कम पढ़े लिखे लोगों के मुकाबले कई साल उम्र में छोटा महसूस करते हैं."

शोधकर्ताओं ने एक और अध्ययन की समीक्षा की है. इस अध्ययन में दस लाख स्वीडिश किशोर पुरुषों के हाथ की ताकत मापी गई थी. यह सैन्य सेवा में दाखिले की परीक्षा का हिस्सा था.

जिनकी हाथ की पकड़ की शक्ति कम है उनकी उल्लेखनीय ढंग से पहले मरने की संभावना है. उनपर दिल से जुड़ी बीमारी, खुदकुशी और मनोवैज्ञानिक समस्याओं जैसे खतरे रहते हैं. शोधकर्ताओं का कहना है कि अलग अलग हाथ की शक्ति से स्वास्थ्य में फर्क के बारे में कई अध्ययनों में देखा जा सकता है.

एए/आईबी (एएफपी)

संबंधित सामग्री