1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

हवा से बनाएं पीने का पानी

भारत में पहली बार ऐसी तकनीक विकसित हुई है जिससे आप अपने किचन में भी हवा से पीने का पानी बना सकते हैं. अगर यह तकनीक आम हो जाती है तो भारत में स्वच्छ पेयजल की बड़ी समस्या हल हो सकती है.

पुणे की कंपनी टैप इन एयर ने इस तकनीक से उन रसोइघरों में भी पेयजल उपलब्ध कराने की मशीन बनाने में काम शुरू कर दिया है जहां घरों में पीने का पानी ही उपलब्ध नहीं है. भारत के पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय द्वारा आयोजित सृजन भारत कार्यक्रम और प्रदर्शनी में भाग लेने आई इस कंपनी के प्रबंधक आनंद दाते ने समाचार एजेंसी यूनीवार्ता को बताया, "भारत में अमेरिकी तकनीक से दो तीन सालों से हवा से पानी बनाने का काम बड़े पैमाने पर चल रहा है पर रसोई घर में हवा से पानी बनाने की स्वदेशी तकनीक हमने देश में विकसित की है. इसके जरिए कोई भी शख्स अपने किचन में हवा से पेयजल बना सकता है."

कंपनी का कहना है कि वह दिसंबर के अंत तक इसकी छोटी मशीन बाजार में उतारने वाली है. दाते के मुताबिक अभी भारत में जिस अमेरिकी मशीन से हवा से पानी बनाया जा रहा है उसकी कीमत 15 लाख रुपये हैं. इसलिए यह मशीन दफतरों या कारपोरेट हाऊस में तो लगाई जा सकती है पर निजी इस्तेमाल के लिए महंगी है.

दाते का कहना है कि घरों में निजी इस्तेमाल के लिए कंपनी ने एक छोटी मशीन तैयार की है, जिसकी कीमत 55 हजार रुपये हैं. कंपनी के मुताबिक 15 लाख की मशीन से छह यूनिट बिजली खर्च कर प्रति घंटे 48 लीटर पानी हवा से बनाया जाता है जबकि छोटी मशीन से एक यूनिट बिजली खर्च कर प्रतिदिन 30 लीटर पानी हवा से बनाया जा सकता है.

एए/एमजी (वार्ता)

DW.COM

संबंधित सामग्री