1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

हरभजन, गंभीर सजा से बाल बाल बचे

टीम इंडिया के हरभजन सिंह और गौतम गंभीर पाकिस्तान के खिलाफ मैच के दौरान कहा सुनी के मामले में सजा से बाल बाल बच गए. रेफरी ने पाकिस्तानी खिलाड़ियों से झड़प को हल्के में लिया और इसे सजा देने लायक नहीं माना.

default

अपने बर्ताव की वजह से हमेशा भारतीय टीम के सिरदर्द ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह और शोएब अख्तर के बीच कहा सुनी हो गई थी. बेहद तनाव भरे इस मैच में भारत के सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर और पाकिस्तान के विकेट कीपर कामरान अकमल ने भी एक दूसरे को आंखें तरेरी. बाद में टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने दोनों को अलग किया. गौटी को तो लगभग खींच कर वहां से हटाना पड़ा.

आशंका जताई जा रही थी कि परंपरागत प्रतिद्वंद्वियों के बीच हुई इन घटनाओं के बाद इन्हें सजा मिल सकती है. लेकिन मैच रेफरी ने मामला खत्म कर दिया. टीम इंडिया के मैनेजर रनजीब बिस्वाल ने बताया, "आईसीसी मैच रेफरी ने खिलाड़ियों से बात की. रेफरी ने उन पर आरोप नहीं लगाने का फैसला किया क्योंकि वह समझते हैं कि खेल के तनाव की वजह से ऐसा हुआ." रेफरी ने खिलाड़ियों को सलाह दी कि ग्राउंड के अंदर उन्हें अपनी भावनाओं पर काबू रखना चाहिए.

Gautam Gambhir Cricket

भज्जी ने मैच में दो विकेट लिए. लेकिन इससे भी अहम उनकी बल्लेबाजी रही. उन्होंने आखिरी गेंद से एक गेंद पहले जोरदार छक्का जड़ कर भारत को जीत दिला दी. आखिरी ओवर से ठीक एक ओवर पहले हरभजन सिंह शोएब अख्तर की आखिरी दो गेंदों पर रन नहीं बना पाए थे. इसके बाद ही दोनों खिलाड़ियों में कुछ नोक झोंक हुई थी. भज्जी और शोएब दोनों ने एक दूसरे को कुछ कहा था. ये दोनों ही खिलाड़ी अपनी अपनी टीमों में अपने अपने बर्ताव की वजह से संकट में रहते हैं.

लेकिन आखिर में छक्का मारने के बाद हरभजन सिंह ने अपना हेलमेट उतार कर शोएब अख्तर की तरफ देखा और जीत की खुशी में जबरदस्त चिंघाड़ लगाई. शोएब निश्चित तौर पर इससे खुश नहीं थे. उन्होंने भज्जी को ग्राउंड से बाहर जाने का इशारा किया.

पाकिस्तान के कप्तान शाहिद अफरीदी ने भी इस मामले को खत्म कर देने पर जोर दिया. उन्होंने कहा, "वे दोनों एक दूसरे के दोस्त हैं और एक दूसरे से बहुत प्यार करते हैं. मुझे लगता है कि इस तरह वे एक दूसरे के बेहद करीब आए हैं." मजे की बात यह रही कि मैच के बाद शोएब अख्तर और हरभजन सिंह ने एक दूसरे से मुलाकात की और दोस्ताना तरीके से बातचीत की.

भारत के सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर की भी पाकिस्तानी खिलाड़ी से अनबन हो गई. गंभीर और कामरान अकमल किसी बात पर उलझ गए और दोनों एक दूसरे से छाती भिड़ा बैठे. बाद में धोनी ने गंभीर को वहां से खींच कर अलग किया. मैच के बाद धोनी ने इस मामले को तूल नहीं दिया. उन्होंने कहा, "अगर आप मुझसे पूछेंगे कि क्या दोनों ने एक दूसरे से कुछ कहा, तो मैं कहूंगा कि इसे रहने दीजिए. भारत और पाकिस्तान के बीच हमेशा बेहद तनाव भरा मैच होता है और दोनों टीमें जीतना चाहती हैं. इस वजह से बीच में कुछ ऐसे पल भी आ सकते हैं."

रिपोर्टः पीटीआई/ए जमाल

संपादनः एस गौड़

संबंधित सामग्री