1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

वर्ल्ड कप

हम तो कॉमनवेल्थ के लिए प्रतिबद्ध हैं: ऑस्ट्रेलिया

ऑस्ट्रेलियाई कॉमनवेल्थ खेल संघ ने कहा है कि उनका देश कॉमनवेल्थ खेलों को लेकर प्रतिबद्ध है अगले महीने उनकी टीम खेलने के लिए दिल्ली जरूर जाएगी. हालांकि उनके कई खिलाड़ी कॉमनवेल्थ से नाम वापस लेने की सोच रहे हैं.

default

सवालों में खेल

संघ के मुखिया पेरी क्रॉसवाइट ने कहा कि खेलों में हिस्सा न लेने पर तो विचार ही नहीं हो रहा है. उन्होंने कहा, "सवाल ही पैदा नहीं होता. मेरे ख्याल से इस तरह का फैसला करते वक्त आपको बेहद सावधान रहना होगा क्योंकि आप 400 खिलाड़ियों की तरफ से यह फैसला कर रहे हैं."

क्रॉसवाइट ने कहा कि ये खेल खिलाड़ियों के लिए हो रहे हैं और उन्हीं को फैसला करना है कि उन्हें खेलों में शामिल होना है या नहीं. हालांकि उन्होंने स्वास्थ्य और सुरक्षा के मुद्दों की अहमियत पर भी जोर दिया, लेकिन कहा कि अगर उनका स्तर ठीक है तो खिलाड़ियों को खेलना चाहिए.

क्रॉसवाइट ने कहा, "अगर उनका स्तर स्वीकार्य है तो खेल खिलाड़ियों के लिए ही होते हैं और उन्हें ही साथ आने के बारे में फैसला करना होगा. उनके अपने विचार हो

Indien Flash-Galerie Commonwealth Games Plakat

चुनौती बने कॉमनवेल्थ खेल

सकते हैं और मुझे नहीं लगता कि उनके लिए हमें फैसला लेने का कोई हक है. तब तक तो नहीं जब तक कि हम उनकी सुरक्षा या सेहत को लेकर फैसला न कर रहे हों."

क्रॉसवाइट ने कहा कि खेलों में हिस्सा लेने के मामले पर उनकी 17 खेलों के अधिकारियों से बात हुई है और किसी ने भी नाम वापस लेने की बात नहीं कही. उन्होंने कहा, "किसी भी अधिकारी ने यह नहीं कहा कि जैसी चिंताएं डैनी सैम्युअल्स ने दिखाई हैं वैसी ही किसी और खिलाड़ी ने भी जाहिर की हों." हालांकि क्रॉसवाइट ने खिलाड़ियों की चिंताओं को पूरी तरह खारिज नहीं किया. उन्होंने कहा कि खिलाड़ी जो भी मीडिया के जरिए जान रहे हैं उस पर उनका चिंतित होना जायज है. उन्होंने कहा, "खिलाड़ियों को कुछ अच्छा नहीं दिख रहा है. जब वे वहां पहुंचेंगे तो उनकी मुलाकात अच्छी चीजों से होगी. लेकिन अभी तो वे यहीं हैं."

संघ प्रमुख ने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के लिए दिल्ली में जो सुविधाएं दी गई हैं वे तो सही हैं लेकिन दूसरे कई देशों ने जो चिंताएं जाहिर की हैं उन्हें नजरअंदाज नहीं किया जा सकता.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links