1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

'हनीमून हत्यारे' का प्रत्यपर्ण

हनीमून के दौरान दक्षिण अफ्रीका में अपनी पत्नी की हत्या करने के आरोपी श्रीयन देवानी को सुनवाई के लिए दक्षिण अफ्रीका प्रत्यर्पित किया गया है.

उस पर आरोप है कि उसने अपनी 28 साल की इंडो स्वीडिश पत्नी की 2010 में हनीमून के दौरान हत्या कर दी. अब केपटाउन में सुनवाई शुरू होगी. ब्रिटेन की स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस ने जानकारी दी, "34 साल के श्रीयन प्रकाश देवानी को सोमवार, सात अप्रैल के दिन स्थानीय समय के मुताबिक शाम आठ बजे ब्रिटेन से दक्षिण अफ्रीका प्रत्यर्पित किया गया." उन्हें ब्रिस्टल के फॉर्मेसाइड मेंटल हेल्थ हॉस्पिटल से एयरपोर्ट ले जाया गया. जहां से उन्हें दक्षिण अफ्रीकी अधिकारियों के साथ केपटाउन रवाना कर दिया गया.

सात दिसंबर 2010 को देवानी को प्रत्यर्पण अधिकारियों की इकाई ने दक्षिण अफ्रीका के अधिकारियों के अनुरोध पर गिरफ्तार किया था. तीन साल से कोशिश की जा रही थी कि देवानी को ब्रिटेन में ही रहने दिया जाए. देवानी के वकीलों ने दलील दी थी कि उन्हें तब तक दक्षिण अफ्रीका नहीं भेजा जाए जब तक कि उनकी मानसिक स्थिति अच्छी नहीं हो जाती. वह विषाद और पोस्ट ट्रॉमैटिक स्ट्रेस डिसॉर्डर से पीड़ित थे.

लेकिन मार्च में हाई कोर्ट के जजों ने उनकी सारी दलीलें खारिज कर दीं और उन्हें सुप्रीम कोर्ट में मामला दर्ज करने का मौका भी नहीं दिया.

माना जा रहा है कि केपटाउन के फॉल्केनबैर्ग अस्पताल में मुकदमे के दौरान देवानी का इलाज किया जाएगा और इसलिए वहां सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. ब्रिटिश और दक्षिण अफ्रीकी अधिकारियों में हुए समझौते के मुताबिक अगर 18 महीने में वह मुकदमा झेलने में असमर्थ रहते हैं तो उन्हें ब्रिटेन भेज दिया जाएगा.

नवंबर 2010 में देवानी और उनकी पत्नी एनी जब हनीमून के दौरान गुगुलेथू टाउनशिप में टैक्सी से जा रहे थे तो उनकी पत्नी को गोली मार दी गई थी और इसका आरोप देवानी पर लगाया गया. हालांकि श्रीयन देवानी अपनी पत्नी की हत्या का आरोप खारिज करते हैं.

अभियोक्ताओं का आरोप है कि दक्षिण अफ्रीकी नागरिक क्जोलिले मनगेनी को देवानी ने अपनी पत्नी की हत्या के लिए भाड़े पर लिया था. मनगेनी को सुनियोजित हत्या के दोष में आजीवन कारावास की सजा दी गई.

एएम/एजेए (पीटीआई)

संबंधित सामग्री