1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

वर्ल्ड कप

हट सकते हैं ऑस्ट्रेलियाई एथलीट

ऑस्ट्रेलिया के खेल अधिकारियों ने कहा है कि कॉमनवेल्थ गेम्स के दौरान भारत में आतंकवादी हमलों की आशंका के चलते वे स्थिति पर नजर रखे हुए हैं और अगर हालात बिगड़ते हैं तो खेल से पीछे हटने का फैसला लिया जा सकता है.

default

कॉमनवेल्थ की नई मुश्किल

दो दिन पहले ही भारत में ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त ने भरोसा दिलाया था कि दिल्ली में कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए ऑस्ट्रेलिया खेल के इतिहास में अपने खिलाड़ियों का सबसे बड़ा दल भेजेगा. लेकिन अब आतंकी हमलों की आशंका कई योजनाओं पर पानी फेर सकती है. ऑस्ट्रेलिया के कॉमनवेल्थ गेम्स एसोसिएशन के प्रमुख पैरी क्रॉसव्हाइट ने कहा कि अगर खिलाड़ियों को लगता है कि उनकी जान को खतरा है तो वे हटने का फैसला ले सकते हैं.

"मेरी प्राथमिकता खिलाड़ियों की सुरक्षा सुनिश्चित करना है. अगर हमारे खिलाड़ियों को वहां पर किसी तरह की सुरक्षा दिक्कत होने की आशंका होगी तो हम वहां नहीं जाएंगे. स्थिति हर दिन बदल रही है." कॉमनवेल्थ गेम्स में अब एक महीने से भी कम का समय रह गया है. कई खिलाड़ी सुरक्षा व्यवस्था के प्रति आशंकित हैं और कुछ को डर है कि खेलों के दौरान आतंकवादी हमला हो सकता है.
ऑस्ट्रेलियाई धावक टेमसिन लुईस का कहना है कि वह जाने की तैयारी कर रही हैं लेकिन अगर सुरक्षा खतरे के स्तर में इजाफा होता है तो वह अपना फैसला बदल सकती हैं. उन्होंने कहा, "खेलों में हिस्सा लेने और भारत जाने से पहले मैं स्थिति पर नजर रखे हुए हूं. जान वाकई बेहद अहम है." ऑस्ट्रेलियाई मिशन में एक अधिकारी का कहना है कि वे लगातार सरकार से सलाह ले रहे हैं. उन्होंने कहा, "अगर सरकार कहती है कि मत जाओ तो हम नहीं जाएंगे."

वैसे ऑस्ट्रेलियाई उच्चायुक्त भरोसा दिला चुके हैं कि 3 से 14 अक्तूबर तक होने वाले खेलों के लिए वे 650 खिलाड़ियों का दल भेजेंगे. लेकिन दिल्ली में आतंकवादी हमलों की आशंका और डेंगू का खतरा खिलाड़ियों के दिल की धड़कनें तेज कर रहा है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: वी कुमार

DW.COM

WWW-Links