1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

हंगरी में आपातकाल की घोषणा

हंगरी में अल्यूमीनियम संयंत्र से जहरीले रसायन के रिसाव की चपेट में आने के बाद आपातकाल की घोषणा कर दी गई है. इस हादसे में चार लोगों की मौत हो गई और 120 घायल हो गए.

default

यह हादसा सोमवार को देश के पश्चिमी शहर अजका में स्थित अल्यूमिनियम प्लांट में एक बड़े से टैंक के तटबंध टूटने से हुआ. भारी भरकम जलाशय के आकार वाले इस टैंक में जहरीला रसायन भरा था. यह बाहर आकर मिट्टी में मिलकर जहरीले कीचड़ के रूप में आसपास के सात गांवों में फैल गया. इसकी चपेट में आकर चार लोग मारे गए जबकि 120 घायल हो गए. इनमें से आठ की हालत काफी गंभीर है और छह लापता हैं. मृतकों में दो बच्चे भी शामिल हैं, जिनकी उम्र तीन साल और एक साल बताई गई है.

हंगरी सरकार की ओर से इसे अब तक का सबसे भीषण केमीकल हादसा बताते हुए सबसे ज्यादा प्रभावित तीन कांउटी क्षेत्रों वेस्प्रेम, ग्योर मोसोन सोपरन और वास में इमरजेंसी लगा दी गई है. इसके आसपास के इलाकों में कीचड़ फैलने से रोकने के इंतजाम किए जा रहे हैं. जहरीली कीचड़ की चपेट में आने से पेड़ पौधे और फसल भी नष्ट हो रहे हैं.

Flash-Galerie Unfall in Aluminiumfabrik Ungarn

गांव के गांव प्रभावित

कीचड़ की दो मीटर मोटी परत ने 40 वर्ग किलोमीटर इलाके को अपने दायरे में ले लिया है और इसके साथ काफी तादाद में वाहन भी बह गए है. साथ ही जहरीला कीचड़ घरों में घुस गया जिससे लोगों को घरों से बाहर खुली जगहों पर पनाह लेनी पड़ी.

फिलहाल इस कीचड़ को देश की प्रमुख नदी डेन्यूब में मिलने से रोकने की सबसे बड़ी चिंता है. यह नदी क्रोएशिया, सर्बिया, बुलगारिया, रोमानिया और यूक्रेन होते हुए काले सागर में मिलती है. हालांकि देश के गृह मंत्री सेंडोर पिंटर ने कहा है कि फिलहाल उस इलाके में पीने का पानी दूषित नहीं हुआ है लेकिन उन्होंने लोगों को जमीन में उगाई गई चीजों को न खाने की हिदायत दी है. पिंटर ने बताया कि इस रसायन के संपर्क में आते ही त्वचा में जलन होने लगती है और यह आंखों में चली जाए, तो रोशनी भी खत्म हो सकती है.