1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

हंगरी का जहर डेन्यूब तक पहुंचा

डेन्यूब की लहरों पर बहते मछलियों के शव बता रहे हैं कि जहरीले कीचड़ का रिसाव यूरोप की सबसे लंबी नदी तक पहुंच गया है. सोमवार को हंगरी से शुरू हुए इस रिसाव ने अब तक चार लोगों की जान ले ली है और अब जलजीवों का जीवन संकट में.

default

खून जैसा लाल जहरीला कीचड़ रास्ते में पड़ने वाली उपनदी मार्काल के सारे जीवों को मौत के घाट उतारने के बाद डेन्यूब की मुख्यधारा में गुरुवार की सुबह 10 बजे पहुंचा. हंगरी की आपात राहत सेवा के प्रमुख टिबोर डॉबसन ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा," हमने डेन्यूब की मुख्य धारा में बड़ी तादाद में मरी हुई मछलियों को देखा है. नदी के पानी की जांच में पता चला है कि पीएच का स्तर 9.1 तक पहुंच गया है. अगर नदी के इकोसिस्टम को बचाए रखना है तो इसे जितनी जल्दी हो सके 8 से नीचे लाना होगा."

Flash-Galerie Stadt Bratislava

लाल खतरे के साए में डेन्यूब

पानी का खारापन जांचने वाले टेबल में 1-14 तक का स्तर होता है. 1-6 के स्तर का पानी अम्लीय होता है जबकि 6-8 स्तर का पानी सामान्य होता है और 6-14 स्तर का पानी खारा. डॉबसन ने बताया कि डेन्यूब की सहायक नदी राबा में पीएच का स्तर 9.6 है जबकि मोसोनी में डेन्यूब का पीएच 9.4 है. गिरमोट गांव में मार्काल राबा से मिलती है यहां राहत के काम में जुटे कार्यकर्ताओं ने बाल्टियां भर भर के मरी हुई मछलियां नदी से बाहर निकाली हैं. नदी का पानी जिप्सम के कारण भूरे बुलबुलों से भर गया है. जिप्सम को नदी में पानी का खारापन दूर करने के लिए डाला गया है.

ये जहरीला रिसाव बुडापेस्ट से 160 किलोमीटर दूर एजका में एक एल्युमिनियम फैक्टरी के स्टोर से नदी तक पहुंचा है. सोमवार को शुरू हुए इस रिसाव ने करीब 3.8 करोड़ क्यूबिक फीट लाल जहरीला कीचड़ आस पास के गांवों में उड़ेल दिया है. इन्हीं में से एक गांव कोलोनतार के चार लोग इस हादसे में मारे गए. कोलोनतार से तोरना की पतली धारा मार्काल में आकर मिलती है. मार्काल राबा की सहायक नदी है जो डेन्यूब में जाकर मिलती है. हंगरी से आगे बढ़कर ये नदी क्रोएशिया, सर्बिया, बुल्गारिया, रोमानिया और यूक्रेन होती हुई काले सागर में जाकर मिल जाती है.

BdT Ungarn Schlamm Hochwasser

बचाव में जुटे राहतकर्मी

सर्बिया, क्रोएशिया और रोमानिया ने कहा है कि नदी की निगरानी बढ़ा दी गई है क्योंकि शहरों को सप्लाई दी जाने वाले पीने के पानी में इस जहर के मिलने का खतरा पैदा हो गया है. बुखारेस्ट से 400 किलोमीटर दूर मेहेडिंटी काउंटी के वाटर मैनेजमेंट अथॉरिटी के मुखिया एड्रियन ड्रैगिकी ने अंदेशा जताया है कि जहरीला कीचड़ रोमानिया तक शनिवार को पहुंच जाएगा. हालांकि हंगरी के जल विभाग के एक अधिकारी ने डेन्यूब के प्रदूषित होने की आशंकाओं को खारिज करते हुए कहा है कि इसका असर ज्यादा दिन नहीं रहेगा. हालांकि पर्यावरणवादी इस प्रदूषण के खतरे की आशंका जता रहे हैं. हंगरी में डब्ल्यू डब्ल्यू एफ की पर्यावरण से जुड़ी संस्था के मुखिया गेबोर फिगेच्की ने कहा, " भारी धातुओं की मौजूदगी लंबे समय के लिए खतरा बन सकती है." प्रधानमंत्री विक्टर ऑर्बान ने कोलोनतार का दौरा करने के बाद कहा कि इस गांव को कहीं और ले जाकर बसाना होगा क्योंकि यहां की जमीन अब इंसान के रहने के काबिल नहीं रही. प्रधानमंत्री ने कहा है कि हंगरी को इस हादसे से निबटने के लिए आर्थिक मदद की जरूरत नहीं, लेकिन रिसाव की सफाई के लिए आने वाले जानकारों का स्वागत किया जाएगा.

ब्रसेल्स में यूरोपीय संघ के प्रवक्ता ने कहा कि यूरोपीय संघ इस समस्या से छुटकारे के लिए हंगरी या किसी और देश की मदद करने को तैयार है लेकिन अभी तक किसी भी तरह की मदद नहीं मांगी गई है. एमएएल हंगेरियन एल्युमिनियम प्रोडक्शन एंड ट्रेड कंपनी ने तत्काल सहायता के रूप में हरेक परिवार को 360 यूरो की सहायता देने की पेशकश की है. जिस फैक्टरी से रिसाव हुआ वह इसी कंपनी की संपत्ति है. भारी मात्रा में रेड कॉस्टिक का भंडार जमा करने के लिए कंपनी की कड़ी आलोचना हो रही है. हालांकि कंपनी का अभी भी यही कहना है कि उसने कोई गलती नहीं की.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः उ भट्टाचार्य

DW.COM

WWW-Links