1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

स्वीडिश न्याय व्यवस्था से निराश असांज

इंटरनेट पोर्टल विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज ने एक डॉक्यूमेंटरी में कहा है कि उन्हें अमेरिका द्वारा मुकदमा चलाए जाने का खतरा है और जिस तरह से स्वीडन की न्यायपालिका का इस्तेमाल किया गया है उससे वे निराश हैं.

default

असांज को स्वीडन द्वारा जारी यूरोपीय वारंट के आधार पर ब्रिटेन में गिरफ्तार किए जाने के बाद हिरासत में रखा जा रहा है. स्वीडन की पुलिस उनसे दो महिलाओं द्वारा लगाए गए यौन अपराधों के आरोपों पर पूछताछ करना चाहती है. असांज ने आरोपों से इंकार किया है.

रविवार को स्वीडिश की पब्लिक टेलिविजन पर प्रसारित डॉक्यूमेंटरी में साक्षात्कार में 39 वर्षीय असांज ने कहा, "मैं रिफ्यूजी प्रकाशक के रूप में स्वीडन आया जो पेंटागन के साथ अभूतपूर्व प्रकाशन संघर्ष में लगा हुआ था, जहां लोगों को हिरासत में रखा जा रहा है और मुझपर जासूसी के आरोप में मुकदमा चलाने के प्रयास हो रहे हैं."

Assange Festnahme 2010 London NO FLASH

गिरफ्तारी से पहले डॉक्यूमेंटरी के लिए दिए गए साक्षात्कार में असांज ने कहा, "इसलिए मैं स्वीडन की न्यायपालिका के दुरुपयोग पर नाखुश और निराश हूं." विकीलीक्स द्वारा अमेरिका के गोपनीय कूटनीतिक दस्तावेजों को प्रकाशित किए जाने पर अमेरिका अत्यंत नाराज है.

अलांज को 14 दिसंबर को फिर अदालत के सामने पेश किया जाएगा. उनके स्वीडिश वकील ने कहा है कि वे असांज को स्वीडन प्रत्यर्पित किए जाने का विरोध करेंगे. असांज की एक ब्रिटिश वकील जेनिफर रॉबिनसन ने शुक्रवार को कहा था अमेरिका में असांज के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल होने वाले हैं.

अमेरिकी कानून विभाग विभिन्न आपराधिक आरोपों की जांच कर रहा है जिसमें 1917 के जासूसी कानून का हनन भी शामिल है. विकीलीक्स पर सैकड़ों गोपनीय दस्तावेजों को जारी करने के कारण उसके खिलाफ इस कानून के तहत कार्रवाई की जा सकती है.

उधर डच अधिकारियों ने एक 19 वर्षीय किशोर को मास्टर कार्ड, वीजा और डच राष्ट्रीय अभियोक्ता की वेबसाइट पर साइबर हमलों का आरोप स्वीकार करने के बाद रिहा कर दिया है. उसे शनिवार को हिरासत में लिया गया था. इसके विपरीत पिछले सप्ताह गिरफ्तार 16 वर्षीय किशोर अभी भी हिरासत में है. प्रवक्ता ने कहा है कि उसके खिलाफ और गंभीर अपराधों के आरोप हैं और जांच चल रही है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: एस गौड़

DW.COM