1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

स्विट्जरलैंड में पैदा हुए तो खुश रहेंगे

अगर सोच समझ कर पैदा होना हो तो कौन सी जगह सबसे अच्छी रहेगी. जेब में पैसा, बढ़िया सेहत और सार्वजनिक संस्थाओं पर भरोसे से खुशी तय होती हो तो अगले साल स्विट्जरलैंड में पैदा होने का ख्वाब देखिए.

साल 2013 में पैदा होने के लिए दुनिया की सबसे अच्छी जगह है स्विट्जरलैंड. काफी रिसर्च कर तैयार की गई सूची में भारत इस लिहाज से 66वें नंबर पर है और ब्रिटेन 27वें नंबर पर.

स्विट्जरलैंड में पैदा होने वाले लोग खुश रहते हैं. उनके पास पैसा, स्वास्थ्य और सार्वजनिक संस्थाओं में भरोसा है. स्कैंडिनेविया के देश नॉर्वे, स्वीडन और डेनमार्क भी शीर्ष के उन पांच देशों में शामिल हैं जहां जीवन स्तर बहुत अच्छा है और जो अगले साल पैदा होने के लिए दुनिया के सबसे बेहतर देश हैं. मशहूर पत्रिका इकोनॉमिस्ट की शाखा द इकोनॉमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट(ईआईयू) ने स्वास्थ्य, सुरक्षा और समृद्धि को आधार बना कर यह पता लगाने की कोशिश की है कि किन देशों में पैदा होने पर भावी जीवन में सब कुछ अच्छा और भरपूर हासिल होने की उम्मीद है.

यह इंडेक्स कई सर्वे के आधार पर तैयार किया गया है जिसमें यह पता लगाने की कोशिश की गई कि दुनिया भर के देशों में लोग अपनी जीवन से कितने खुश हैं. खुशी निर्धारित करने में अमीर होना सबसे बड़ा कारक था. इसके अलावा अपराध, सार्वजनिक संस्थाओ में भरोसा और पारिवारिक जीवन जैसे कारकों के आधार पर लोगों की खुशी आंकी गई. कुल मिला कर 11 बिंदुओं के आधार पर यह इंडेक्स तैयार हुआ है. इनमें भौगोलिक स्थिति जैसे कुछ स्थिर कारक थे तो जनसंख्या जैसे कुछ धीमे धीमे बदलने वाले कारक भी. इनके अलावा संस्कृति और अर्थव्यवस्था की स्थिति जैसे कारकों को शामिल किया गया.

इंडेक्स तैयार करने में यह भी देखा गया कि 2030 में उस देश की प्रति व्यक्ति आय कितनी होगी. 2013 में पैदा हुआ बच्चा इस साल तक वयस्क होकर दाल रोटी से जुड़े मसलों का सामना कर रहा होगा.

शीर्ष के 10 बेहतरीन जगहों में छोटे देशों ने बाजी मारी है. इनमें ऑस्ट्रेलिया दूसरे नंबर पर है और न्यूजीलैंड, नीदरलैंड्स भी ज्यादा नीचे नहीं हैं. शीर्ष के 10 देशों में आधे से ज्यादा यूरोप के हैं लेकिन बड़ी बात है कि इनमें यूरोजोन से सिर्फ एक ही देश है नीदरलैंड्स. संकट से जूझ रहे ग्रीस, पुर्तगाल और स्पेन जैसे दक्षिण यूरोप के देश अच्छी जलवायु के मालिक होने के बावजूद इस कतार में काफी नीचे हैं.

शीर्ष 10 देशों में सबसे ऊपर है स्विट्जरलैंड और उसके बाद के देश हैं, ऑस्ट्रेलिया, नॉर्वे, स्वीडन, डेनमार्क, सिंगापुर, न्यूजीलैंड, नीदरलैंड्स, कनाडा और फिर हॉन्गकॉन्ग. दुनिया का सबसे अमीर और ताकतवर देश अमेरिका 16वें नंबर पर है तो दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला चीन 49वें नंबर पर.

एनआर/एमजी(पीटीआई)

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री