1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

वर्ल्ड कप

स्वर्णिम साइना को गोल्ड मेडल

भारत की चोटी की बैडमिंटन स्टार साइना नेहवाल ने कॉमनवेल्थ खेलों में स्वर्ण पदक जीता. कांटे के मुकाबले को जीतकर साइना ने देश को 38वां गोल्ड मेडल दिलाया. प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की पत्नी भी इस जीत की गवाह बनीं.

default

इस साल सिलसिलेवार ढंग से बड़े खिताबों की झड़ी लगा देने वाली साइना ने दिल्ली में भी विजय रथ जारी रखा. महिलाओं के सिंग्लस मुकाबले में उन्होंने मलयेशिया की वोंग मेव चू को हराया. मैच में साइना जबरदस्त मानसिक दृढ़ता का भी नजारा पेश किया. पहले गेम 21-19 से हारने के बाद साइना ने जोरदार वापसी की. दूसरे गेम में एक एक प्वाइंट के लिए कड़ा संघर्ष हुआ और साइना 23-21 से जीती.

इसके बाद तो विश्व की नंबर दो खिलाड़ी ने चू को कोई मौका ही नहीं दिया. तीसरे गेम में उन्होंने सटासट शॉट लगाते हुए चू को 21-13 से परास्त कर दिया.जीत के बाद हैदराबाद की साइना ने कहा, ''मुझे छोटी छोटी बातों पर ध्यान देने की जरूरत है.''

Indische Badmintonspielerin Saina Nehwal

वैसे मलयेशियाई खिलाड़ी ने भी अपने प्रदर्शन से लोगों का ध्यान आर्कषित किया. उन्होंने रैकेट के साथ साइना को आगे पीछे भागने पर खूब मजबूर किया. लेकिन जीत आखिरकार बढ़िया खेल दिखाने वाली सायना की ही हुई. साइना इस साल लगातार तीन बड़े खिताब जीत चुकी हैं. वर्ल्ड रैंकिंग में भी वह दूसरे स्थान पर हैं.

20 साल की साइना पहले ही कह चुकी थीं कि कॉमनवेल्थ खेलों में स्वर्ण पदक जीतना उनका सपना है. खेलों के समापन वाले दिन उन्होंने सपने की हकीकत भी बदल दिया. कॉमनवेल्थ खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली वह पहली भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी बन गई हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: ए कुमार

DW.COM

WWW-Links