1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

स्पेन में हवाई हड़ताल के बाद इमरजेंसी

स्पेन में हवाई कर्मचारियों के अचानक हड़ताल पर जाने के बाद इमरजेंसी लगा दी गई है. हड़ताल से तीन लाख लोग फंस कर रह गए हैं. हवाई अड्डों को सैनिकों के हवाले किया गया है. कर्मचारियों पर सैनिक कानून के तहत कार्रवाई की चेतावनी.

default

फंसे मुसाफिर

स्पेन के एयर ट्रैफिक कंट्रोलरों ने वाइल्ड कैट स्ट्राइक कर दी. आधे से ज्यादा कर्मचारियों ने शनिवार को हाजिरी लगाई लेकिन इसके बाद काम करने से इनकार कर दिया. पूरे स्पेन में हवाई यात्राएं थम कर रह गईं और कम से कम तीन लाख लोग फंस कर रह गए.

यूरोप सहित दुनिया भर में आम तौर पर हड़ताल का फैसला ट्रेड यूनियन के लोग करते हैं लेकिन अगर कर्मचारी ट्रेड यूनियन की सलाह के बगैर ही हड़ताल पर चले जाएं, तो इसे वाइल्ड कैट स्ट्राइक एक्शन कहते हैं. स्पेन के एयर कंट्रोल कर्मचारी वेतन बढ़ाने और काम के घंटे कम करने की मांग कर रहे हैं.

Spanien Flughafen Stillstand NO FLASH

स्पेन में कैबिनेट की आपात बैठक के बाद देश के उप प्रधानमंत्री और गृह मंत्री अलफ्रेडो पेरेज रुबालकाबा ने कहा, "हमने कहा था कि अगर एयरपोर्टों पर स्थिति सामान्य नहीं होती है तो हमें इमरजेंसी लगाने पर सोचना होगा. निश्चित तौर पर स्थिति सामान्य नहीं हैं."

उन्होंने बताया कि अगर कर्मचारी काम पर नहीं लौटते हैं तो उनके खिलाफ सैनिक कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी. रुबालकाबा ने बताया कि एयरपोर्टों को मिलिट्री के नियंत्रण में दे दिया गया है. लेकिन सैनिक अधिकारी एयर कंट्रोल का काम नहीं कर सकते हैं. हड़ताल के बाद सरकार ने बताया कि हवाई सेवाएं रविवार तक के लिए रोक दी गई हैं.

स्पेन के छोटे बड़े द्वीप आम तौर पर सैलानियों की सैरगाह होती हैं और हड़ताल की वजह से लाखों लोगों को पूरी रात एयरपोर्ट पर बितानी पड़ी. मयोखा, बार्सिलोना, मैड्रिड और दूसरे एयरपोर्टों से विमान नहीं उड़ पाए. एयरपोर्ट प्रशासन ने मुसाफिरों को सलाह दी है कि वे अगली सूचना तक एयरपोर्ट न जाएं. हवाई अड्डों पर लगातार भीड़ बढ़ती जा रही है.

Spanien Flughafen Stillstand NO FLASH

एयर कंट्रोलर विभाग के कर्मचारी एक महीने से वेतन के मुद्दे पर बातचीत कर रहे हैं लेकिन इसका कोई नतीजा नहीं निकला. इसके बाद उन्होंने शनिवार को काम करने के मना कर दिया और कहा कि वे बीमार हैं. प्रशासन अब बीमारी की जांच के लिए डॉक्टरों को बुला रहा है.

स्पेन में पूर्व तानाशाह फ्रांसिस्को फ्रांको की मौत के बाद से कभी इमरजेंसी नहीं लगाई गई थी. करीब 35 साल बाद देश में आपातकाल की घोषणा की गई है. इमरजेंसी के दौरान आदेश का पालन नहीं करने पर कर्मचारियों को गिरफ्तार किया जा सकता है और उन्हें छह साल तक की सजा हो सकती है.

स्ट्राइक के बाद फंसे हुए यात्रियों के लिए बस और ट्रेनों की सेवाएं बढ़ाई गई हैं. स्पेन की राष्ट्रीय विमान सेवा इबेरिया ने कहा है कि वह यात्रियों के टिकट का पैसा वापस करने को तैयार है या उन्हें बिना किसी फीस के दूसरी तारीख का टिकट देने को तैयार है. स्पेन में सोमवार और बुधवार को राष्ट्रीय छुट्टी है और ऐसे में संकट और बढ़ गया है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः एस गौड़

DW.COM

WWW-Links