1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

स्पेनी या जर्मन बनेगा चैंपियन

दो दिन के अंदर जर्मनी और स्पेन की दो दो टीमों ने चैंपियंस लीग के सेमीफाइनल में जगह बना ली. इसके साथ ही यूरोप की सबसे बड़ी लीग फुटबॉल प्रतियोगिता में सिर्फ दो देशों की चार टीमें चोटी तक पहुंच पाईं.

डॉर्टमुंड को भले ही मुश्किल और विवाद के साथ आखिरी चार में जगह मिली हो लेकिन जर्मनी की सबसे प्रतिष्ठित टीम बायर्न म्यूनिख ने धमक के साथ सेमीफाइनल में जगह बनाई. पहले चरण की ही तरह दूसरे चरण में भी उसे इटली की युवेंटस की टीम पर दो गोल की जीत मिली. बायर्न पूरे आत्मविश्वास के साथ चैंपियंस लीग की खिताब की तरह बढ़ रही है.

जर्मन फुटबॉल लीग यानी बुंडेसलीगा में आठ हफ्ते पहले ही खिताब जीत लेने वाली लाल जर्सी वाली टीम ने युवेंटेस के घर पर उसे दो गोल से पराजित किया. मौजूदा वक्त के सबसे ताकतवर गोलकीपर माने जा रहे जर्मनी की मानुएल नॉयर ने भले ही हरी जर्सी पहन रखी हो लेकिन फुटबॉल के लिए वह लाल झंडी का काम कर रही थी. उन्होंने क्वार्टर फाइनल के दोनों ही मैचों में विपक्षी टीम को एक भी गोल नहीं करने दिया.

दूसरी तरफ युवेंटेस के गोलकीपर और इटली के दिग्गज खिलाड़ी बुफोन पर चढ़ती उम्र का असर साफ दिखा और अपने ही ग्राउंड पर वह थोड़ा ढीले दिखे. उन्हें एक बार फिर दो गोल खाने पड़े और इसके साथ ही इटली की लीग सीरीया वन में सबसे ऊपर चल रही टीम को चैंपियंस लीग से रुखसत होना पड़ा.

यूं तो बायर्न की टीम में सितारे भरे पड़े हैं लेकिन पहला गोल क्रोएशियाई मूल के मांड्सूकिच की हेडर से निकला. युवेंटेस के ग्राउंड पर हो रहे इस मैच में पहले गोल के बाद ही मेहमान टीम का रास्ता आसान हो गया. हालांकि खेल के आखिरी मिनट में जर्मन टीम एक और गोल करने में सफल रही. मैच के बाद मांड्सूकिच ने कहा, "यह अच्छी बात रही कि हमने वैसा ही खेल दिखाया, जैसा हमने म्यूनिख में दिखाया था. मुझे इस बात की खुशी है कि मैं गोल करने में कामयाब रहा लेकिन इससे ज्यादा खुशी इस बात की है कि टीम आखिरी चार में पहुंच गई."

इससे पहले खेल के 23वें मिनट में नॉयर ने आंद्रिया पिर्लो के एक निश्चित गोल वाले शॉट को अपने मुक्कों पर झेल लिया. उन्होंने जाल में जाती गेंद को अपने घूंसे से हवा में उड़ा दिया और अपना शानदार रिकॉर्ड बनाए रखा. पहले चरण के मैच के बाद बुफोन ने नॉयर की तारीफ में कहा था कि नॉयर इस कदर बेहतर खिलाड़ी हैं कि फुटबॉल का एक पूरा युग उनके नाम किया जा सकता है.

इस जीत के साथ बायर्न आखिरी सबसे ज्यादा आत्मविश्वास के साथ आखिरी चार में पहुंची है. जर्मनी की दूसरी टीम डॉर्टमुंड विवादित गोल के साथ और रियाल मैड्रिड आखिरी मैच में हार के साथ सेमीफाइनल में है. जबकि बार्सिलोना की टीम को क्वार्टर फाइनल के अपने दोनों मैच ड्रॉ खेलने पड़े. हालांकि इसके बाद भी वह खिताबी होड़ में कायम है.

पिछले साल बायर्न की टीम चैंपियंस लीग के फाइनल तक पहुंच पाई थी, जहां उसे चेल्सी के हाथों हार का सामना करना पड़ा. इस साल चेल्सी या मैनचेस्टर यूनाइटेड जैसी इंग्लिश टीमें चैंपियंस लीग के सेमीफाइनल तक नहीं पहुंच पाई हैं.

एजेए/ओएसजे (रॉयटर्स, डीपीए)

DW.COM

WWW-Links