1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

स्थायी सीट पर समर्थन का ओबामा का संकेत

राष्ट्रपति बराक ओबामा ने संकेत दिया है कि अमेरिका संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में स्थायी सीट के लिए भारत की दावेदारी का समर्थन कर सकता है. इस कदम से उभरती हुई विश्व शक्ति भारत के साथ अमेरिका के रिश्ते पुख्ता होंगे.

default

नई दिल्ली में भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ साझा प्रेस कांफ्रेंस में ओबामा ने कहा, "हमने संयुक्त राष्ट्र समेत अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों में 21वीं सदी की सच्चाइयों को जगह देने पर बात की है. मैं भारतीय संसद में अपने भाषण के दौरान भारत के लिए स्थायी सीट पर बात करूंगा."

भारत सुरक्षा परिषद में स्थायी सीट चाहता है. हालांकि ओबामा की तरफ से समर्थन मिल जाने के बावजूद भारत की राह में चीन जैसे देश बड़ी बाधा हैं. वैसे भी संयुक्त राष्ट्र में होने वाले मतदान के दौरान भारत भी अकसर अमेरिका के खिलाफ खड़ा दिखता है.

चार एशियाई देशों की यात्रा के पहले पड़ाव में अमेरिकी राष्ट्रपति फिलहाल भारत में हैं जहां उनकी यात्रा का खास मकसद अमेरिकी अर्थव्यवस्था को सहारा देने के लिए भारत से बड़े व्यापारिक करार करना है. इस दिशा में अमेरिकी कोशिशें सफल भी हो रही हैं. भारत और अमेरिका के बीच इस दौरे में 10 अरब डॉलर के समझौते पर हस्ताक्षर हो चुके हैं जिससे अमेरिका में हजारों नौकिरयां पैदा होंगी.

दूसरी तरफ भारतीय पक्ष आतंकवाद और खास कर पाकिस्तान की जमीन से भारत के खिलाफ जन्म लेने वाले आतंकवाद से निपटने और सुरक्षा परिषद में स्थायी सीट के लिए दावेदारी पर ओबामा का मजबूत समर्थन चाहता है.

वैसे अमेरिका में मध्यावधि चुनावों में ओबामा की डेमोक्रैटिक पार्टी की हार के बाद जल्दी जल्दी विदेश दौरे पर जाने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति की खासी आलोचना भी हो रही है. भारत के बाद ओबामा इंडोनेशिया, दक्षिण कोरिया और जापान जाएंगे.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः उज्ज्वल भट्टाचार्य

DW.COM

WWW-Links