1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

सोशल मीडिया पर दिल्ली का चुनावी दंगल

दिल्ली विधानसभा के चुनावों से पहले संघर्ष गहराता जा रहा है. राजनीतिक दल विरोधियों को नीचा दिखाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहीं है. बीजेपी की किरण बेदी के मुकाबले आप के अरविंद केजरीवाल सोशल मीडिया की पहली पसंद लगते हैं.

default

किरण बेदी

मुख्य मुकाबला बीजेपी और आम आदमी पार्टी के बीच है. दोनों ही पार्टियां अपने मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवारों पर निर्भर कर रही हैं. दोनों पार्टियां और नेता तो एक दूसरे पर भारी होने की कोशिश कर ही रहे हैं, वोटर भी सोशल मीडिया के जरिए इस बहस में हिस्सा ले रहे हैं. उम्मीदवार अपनी बात पहुंचाने के लिए और मतदाताओं को लुभाने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर रहे हैं. किरण बेदी तो अपने रोड शो के बीच से भी तस्वीरें पोस्ट कर रही हैं.

ऐसा नहीं है कि सिर्फ उम्मीदवार मतदाताओं को अपनी बात बता रहे हैं. मतदाता भी उम्मीदवारों से सवाल कर रहे हैं.

बीजेपी की मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार किरण बेदी और आम आदमी पार्टी के पूर्व मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दोनों ही अन्ना हजारे के भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन से आए हैं. अब दोनों एक दूसरे के सामने हैं. किरण बेदी पर केजरीवाल के हमले की यह बानगी.

इसके पहले गणतंत्र दिवस के समारोहों में पूर्व मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को आमंत्रित नहीं करना चुनावी मुद्दा बन गया. बीजेपी पर ओबामा की उपस्थिति में हुए समारोह का इस्तेमाल चुनाव प्रचार में करने के आरोप लगे.

पिछली बार गणतंत्र दिवस समारोह का बहिष्कार करने वाले अरविंद केजरीवाल ने इस बार शिकायत की कि उन्हें गणतंत्र दिवस के समारोह में नहीं बुलाया गया तो समारोह के लिए बुलाई गई किरण बेदी ने कहा कि निमंत्रण पाने के लिए बीजेपी में शामिल होना चाहिए. इस पर पत्रकार वीर सिंघवी की टिप्पणी.

संबंधित सामग्री