1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

सोमाली डाकुओं को मिली सबसे बड़ी फिरौती

सोमालिया के समुद्री डाकुओं ने कहा है कि उन्होंने दक्षिण कोरिया के एक सुपर टैंकर को छोड़ने के एवज में 9.5 मिलियन अमेरिकी डॉलर यानी करीब 42 करोड़ रुपये की फिरौती हासिल की है.

default

सोमाली डाकुओं का बढ़ता कहर

डाकुओं ने कहा है कि फिरौती की रकम हेलीकॉप्टर से गिराकर उन तक पहुंचाई गई. इसके बदले उन्होंने सामहो ड्रीम नाम के टैंकर और उसके चालक दल के 24 सदस्यों को रिहा कर दिया.

इस बीच चीन के परिवहन मंत्री ने कहा कि जून में अगवा किए गए उसके 19 लोगों को सिंगापुर के जहाज समेत डाकुओं के चंगुल से छुड़ा लिया गया है.

सोमाली डाकुओं की बात को सच माना जाए तो कोरियाई जहाज के बदले मिली फिरौती की रकम अब तक की सबसे बड़ी फिरौती होगी. एक समुद्री डाकू ने समाचार एजेंसी एएफपी को फोन पर बताया, "मेरे साथियों को लगभग 9 मिलियन डॉलर की फिरौती की रकम मिलने के बाद सामहो ड्रीम को आज सुबह रिहा कर दिया गया. पैसा हेलीकॉप्टर से गिराया गया. अब इसका बंटवारा हो रहा है."

तीन लाख टन वजनी सामहो ड्रीम को अप्रैल में हिंद महासागर में अगवा किया गया था. तब फिलीपींस के 19 और दक्षिण कोरिया के अपने चालक दल के पांच सदस्यों के साथ यह इराक से अमेरिका के लुइजियाना जा रहा था.

मोंबासा में ईस्ट अफ्रीकन सीफेयर्स असिस्टेंस प्रोग्राम के संयोजक ऐंड्रयू म्वांगुरा ने बताया कि जब से समुद्री डाकुओं ने जहाजों को अगवा करना शुरू किया है तब से फिरौती की यह रकम सबसे बड़ी है. उन्होंने कहा, "शुरू में उन्होंने 2 करोड़ अमेरिकी डॉलर मांगे थे. मैं इतना बता सकता हूं कि बातचीत करने वालों ने मुझे बताया कि डाकू फिरौती की रकम को 90 लाख अमेरिकी डॉलर के आसपास तक लाने के लिए राजी हो गए थे. यह डाकुओं को दी गई सबसे बड़ी फिरौती होगी."

माना जा रहा है कि डाकुओं के लिए यह बड़ी सफलता साबित हो सकता है और अब वे और ज्यादा खतरकनाक साबित होंगे. फिलहाल सोमाली डाकुओं के कब्जे में कम से कम 25 जहाज हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः एमजी

DW.COM

WWW-Links