1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

सोमदेव को दूसरा स्वर्णपदक

डबल्स के बाद अब भारत के सोमदेव देववर्मन ने सिंगल्स में भी जीत हासिल करते हुए एशियाई खेलों में दो दिनों के अंदर लगातार दो सोने के पदक हासिल कर लिए. पदक तालिका में चीन का धुंआधार आगे बढ़ना जारी है.

default

और एक सोना

मंगलवार को पुरुषों के सिंगल्स में सोमदेव का मुकाबला उजबेकिस्तान के डेनिस इस्तोमिन से था, वरीयता क्रम में सोमदेव से 66 स्थान आगे हैं. लेकिन बेहतरीन खेल का प्रदर्शन करते हुए 25 वर्षीय भारतीय खिलाड़ी ने पहले ही सेट में 5-0 से बढ़त हासिल कर ली. यह सेट 6-1 के नतीजे के साथ सोमदेव के खाते में गया.

दूसरे सेट में भी सोमदेव 3-1 से आगे रहे, लेकिन इस्तोमिन ने इसके बाद उनकी बढ़त रोकने की कोशिश की. अंततः यह सेट भी भारतीय खिलाड़ी के खाते में गया, जो 6-1 और 6-2 के नतीजे के साथ अपने दूसरे सोने के पदक के मालिक बने.

महिलाओं के सिंगल्स फाइनल में चीन की पेंग शुआई को उजबेकिस्तान की आकगुल अमनमुरादोवा का सामना करना है.

महिलाओं की 20 किलोमीटर पैदल में सोना जीतते हुए लियु होंग ने इस प्रतियोगिता में चीन का बर्चस्व बनाए रखा. जापान की मासूमी फुचिसे को चांदी व चीन की ली यानफेई को कांसे का पदक मिला. सन 1986 में शुरु हुई इस प्रतियोगिता में सिर्फ 6 खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया था.

महिलाओं की सात डिसिप्लीन की हेप्टाथेलन प्रतियोगता में भी भारत को एक पदक की उम्मीद है. जैवेलिन थ्रो में 41.61 मीटर की दूरी के साथ प्रमीला गुडंडा अभी तीसरे स्थान पर हैं. उजबेकिस्तान की युलिया तारासोवा पहले और जापान की युकी नाकाता दूसरे स्थान पर हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/उभ

संपादन: एन रंजन

DW.COM

WWW-Links