1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

सोनिया ने नीतीश पर धर्मनिपरेक्षता का बाण छोड़ा

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के बाद कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी भी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ कड़े शब्दों का इस्तेमाल कर रही हैं. चुनावी रैली में कांग्रेस अध्यक्ष ने नीतीश की धर्मनिरपेक्ष छवि पर सवाल उठा दिए.

default

बिहार में पहले चरण के मतदान से पहले किशनगंज में एक चुनावी रैली में सोनिया गांधी ने कहा, बिहार के मुख्यमंत्री उन लोगों के साथ भी मिले हुए हैं जो धर्म निरपेक्षता के कड़े विरोधी हैं. उनका हमला बीजेपी पर भी था.

नीतीश कुमार के विकास के दावों ने राजनीति की फिजा बदली है. नीतीश सरकार ने विकास को मुद्दा बना दिया है. यही वजह रही कि प्रधानमंत्री के बाद सोनिया भी विकास को केंद्र में रख कर बोलीं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस सत्ता में आई तो विकास की गंगा बहेगी.

राज्य सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा, ''अलग अलग योजनाओं के तहत कई करोड़ रुपये राज्य सरकार को दिए. लेकिन बहुत ही दुर्भाग्य की बात है कि वहां भ्रष्टाचार की रिपोर्टें हैं. ''
नीतीश कुमार के राज्य में विकार से दावों की आलोचना करते हुए सोनिया ने कहा, "हम नहीं जानते कि सरकार ने दी हुई निधि का क्या हुआ. उन्होंने लोगों से रैली में पूछा कि उन्हें दिन में कितने घंटे बिजली मिलती है." साथ ही उन्होंने सवाल किया कि शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र के विकास के लिए दिए हुए पैसे का क्या हुआ. "अच्छी शिक्षा, बेहतर नौकरी के लिए छात्रों और अच्छे इलाज के लिए लोगों को राज्य से बाहर जाना पड़ता है."

वहीं लोकसभा चुनावों में कांग्रेस से नाता तोड़ने वाले आरजेडी नेता लालू अब घबराए से दिख रहे हैं. सोमवार को उन्होंने कहा कि बिहार में सरकार बनाने के लिए उन्हें हाथ का साथ चाहिए.

रिपोर्टः एजेंसियां/आभा एम

संपादनः ओ सिंह

DW.COM

WWW-Links