1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

सोची की उड़ानों में टूथपेस्ट बम का खतरा

अमेरिकी सरकार ने रूस जाने वाली उड़ानों में टूथपेस्ट ट्यूब पर नजर रखने के लिए कहा है. अमेरिका ने चेतावनी दी है कि आतंकी बम बनाने का सामान टूथपेस्ट में भर प्लेन में ले जा सकते हैं.

अमेरिका के आंतरिक सुरक्षा विभाग ने किसी ठोस चेतावनी की पुष्टि करने से इनकार कर दिया. उन्होंने डीपीए समाचार एजेंसी को भेजे मेल में सिर्फ इतना ही लिखा है कि विभाग "नियमित रूप से जरूरी सूचनाएं एयरलाइन्स से साझा करता है," खास कर उनसे जो विंटर ओलंपिक जैसे अंतरराष्ट्रीय इवेंट से जुड़ी हुई हैं. हालांकि जनता के लिए यह सुरक्षा अलर्ट जारी नहीं किया गया.

शुक्रवार को सोची विंटर ओलंपिक्स की शुरुआत होने वाली है. एक वरिष्ठ अमेरिकी अधिकारी के हवाले से एबीसी ने यह रिपोर्ट दिखाई थी. वहीं सीएनएन न्यूज चैनल को प्रतिनिधि सभा में आंतरिक सुरक्षा कमेटी के सदस्य सांसद पीटर किंग ने बताया कि पैनल को इस खतरे की जानकारी दी गई है. हालांकि उन्होंने इस बारे में विस्तार से कोई भी जानकारी देने से इनकार कर दिया लेकिन यह जरूर कहा कि "इस टाइप के खतरे के बारे में हमें सचमुच चिंता करनी चाहिए."

Sotschi 2014 Jamaika Bob 06.02.2014

7 फरवरी को शुरू हो रहे हैं सोची विंटर ओलंपिक्स

किंग ने कहा कि उन्हें सोची के ओलंपिक गांव और मैदान में सुरक्षा कड़ी होने पर कोई शंका नहीं है लेकिन "वहां पहुंचना और आस पास के इलाके, मैं कहूंगा कि वहां चिंता करने का गंभीर कारण है. जाने में खतरे को देखते हुए नहीं जाना ही ठीक है."

विदेश मंत्री जॉन केरी ने सीएनएन को बताया कि एफबीआई, सेना और दूतावास के स्टाफ सहित अमेरिका के 400 लोग "रूस के साथ एक छत के नीचे काम कर रहे हैं." केरी ने कहा, "जिसे भी जाना हो वो जाए. वह सुरक्षित ही होगा ठीक वैसे ही जैसे उन सभी जगहों पर बड़े कार्यक्रम होते रहे हैं जहां किसी तरह का खतरा जताया गया था." अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा कि उन्हें सोची के सुरक्षित होने में कोई शंका नहीं है. दिसंबर में सोची से 400 किलोमीटर पूर्वोत्तर के शहर वोल्गोग्राड में खुदकुश बम हमलावर ने 34 लोगों की जान ले ली थी. अमेरिकी सुरक्षाकर्मियों ने हालांकि कहा है कि उन्हें किसी ठोस खतरे की जानकारी नहीं है.

2009 में एक नाइजीरियाई आदमी ने अपनी अंडरवियर में विस्फोटक छिपाए थे. वह अमेरिकी एयरलाइन्स में चढ़ने वाला था. इससे पहले 2001 में एक आदमी ने जूते में छिपाए विस्फोटकों से एक जम्बो जेट में धमाका करने की कोशिश की थी. बुधवार को दो अमेरिकी युद्धपोत काला सागर पहुंचे. आपात की स्थिति में वह मदद के लिए तैयार रहेंगे. राष्ट्रपति ओबामा ने आश्वासन दिया है कि वह अमेरिकी जनता की सुरक्षा के लिए जरूरी कदम उठा रहे हैं.

एएम (एएफपी, डीपीए, रॉयटर्स)

DW.COM