1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खबरें

सेना में कटौती करेगा अमेरिका

अमेरिकी रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि वह अमेरिकी सेना को सीमित करना चाहता है. सैनिकों की संख्या को दूसरे विश्व युद्ध के स्तर के बाद सबसे कम करने की बात है.

अमेरिकी रक्षा मंत्री चक हेगल ने कहा कि अगले हफ्ते आने वाला सुरक्षा बजट 13 साल की लड़ाइयों के बाद वाली अमेरिकी नीति पर ध्यान देगा. हेगल ने हालांकि चेतावनी दी है कि नए और सीमित बजट के बाद अमेरिका विदेशों में संघर्ष का जल्दी जवाब नहीं दे पाएगा, जैसा कि वह अब तक देता आया है. हेगल ने लेकिन सुरक्षित किया है कि बजट कटौती से सेना की क्षमता पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा लेकिन सेना एक साथ बहुत सारे संघर्षों पर ध्यान नहीं दे सकेगी.

सैनिकों की संख्या कम

पेंटागन के मुताबिक अमेरिकी सेना में 5,20,000 सैनिक हैं और इस संख्या को कम करके 4,40,000 के करीब लाने की योजना है. इससे पहले दूसरे विश्व युद्ध में अमेरिकी सेना की संख्या सबसे कम थी, करीब 2,67,000. हेगल ने कहा, "हम सैनिक और सैन्य ढांचे में कमी करना चाहते हैं. हम इससे अपनी तकनीकी श्रेष्ठता को कायम रख सकेंगे और अपनी अहम क्षमताओं को बनाए रख सकेंगे." इसके अलावा हेगल सैनिकों के लिए घर के किराए के लिए टैक्स फ्री भत्ता भी कम करना चाहते हैं और सैनिकों और रिटायर्ड सैनिकों के लिए स्वास्थ्य कार्यक्रम में बदलाव लाना चाहते हैं. ए 10 हवाई जहाजों को भी हटाने की योजना है हालांकि सैनिक इसे बहुत पसंद करते हैं. हेगल का कहना है कि ए 10 को खत्म करके लॉकहीड मार्टिन के एफ 15 लड़ाकू विमान के लिए पैसे जुटाए जा सकेंगे.

USA U. S. Army soll deutlich kleiner werden Chuck Hagel und Martin Dempsey

अमेरिकी सेना अध्यक्षों के प्रमुख मार्टिन डेंपसी (दाएं) के साथ चक हेगल

हेगल के मुताबिक असुरक्षा के माहौल की वजह अनिश्चितता का सामना करना पड़ सकता है. बजट कटौती के बाद इस तरह की अनिश्चतताओं का सामना करने में सेना को दिक्कत हो सकती है. खास तौर पर इसलिए क्योंकि बाकी देश लगातार अपनी सेनाओं में निवेश कर रहे हैं.

कांग्रेस में दिक्कत

पेंटागन अगले दस सालों के खर्चे में 1000 अरब डॉलर की कमी करने की योजना बना रहा है. सैन्य बजट में कटौती भी इसी का हिस्सा है. 2015 में पेंटागन 496 अरब डॉलर का बजट रखेगा. 2014 के बजट से यह 45 अरब डॉलर कम है. माना जा रहा है कि 2016 की शुरुआत तक सुरक्षा मंत्रालय कटौती के लिए और योजनाओं का क्रियान्वयन करेगा, हालांकि हेगल का मानना है कि इससे अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा को भारी नुकसान पहुंच सकता है.

अमेरिका में विश्लेषकों का कहना है कि हेगल के बजट की प्राथमिकताओं से पेंटागन को फायदा तो हो सकता है लेकिन कांग्रेस में मध्यकालीन चुनावों के लिए खड़े नेता इसका विरध कर सकते हैं. सेंटर फॉर स्ट्रैटीजिक एंड इंटरनेशनल स्टडीज की कैथलीन हिक्स कहती हैं कि कांग्रेस हमेशा राष्ट्रपति के मसौदे में बदलाव लाता है लेकिन सबसे मुश्किल सेना के कर्मचारियों पर फैसला करना होगा. सवाल यह है कि कांग्रेस क्या एक साथ बड़े बदलाव लाएगी या थोड़ा थोड़ा कर के बदलने की कोशिश करेगी.

कांग्रेस के दोनों सदनों में नेताओं ने हेगल के प्रस्तावों का विरोध किया है. प्रतिनिधि बक मैककेओन हाउस आर्म्ड सर्विसेस कमेटी के प्रमुख हैं और रिपब्लिकन नेता हैं. उनका कहना है कि सैन्य कर्मचारियों के लिए सुविधाएं कम करने का कोई मतलब नहीं जब तक इस सिलसिले में अगले साल तक रिपोर्ट नहीं आ जाती. साथ ही हेगल ए 10 विमानों को भी बंद करना चाहते हैं जिसका विरोध नेताओं ने किया है.

एमजी/एएम (रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री