1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

सेक्स स्कैंडल: जांच समिति ने अपनी रिपोर्ट सौंपी

महिला हॉकी में सेक्स स्कैंडल से आए भूचाल पर जांच समिति ने हॉकी इंडिया को जांच रिपोर्ट सौंप दी है. ऐसे संकेत हैं कि जांच कमेटी ने सेक्स स्कैंडल की सिर्फ तथ्यात्मक जानकारी दी है. एमके कौशिक के आचरण पर टिप्पणी नहीं.

default

हॉकी इंडिया अब इस रिपोर्ट को आगे बढ़ाएगी और पांच सदस्यीय जांच समिति की यह रिपोर्ट स्पोर्ट्स ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (साई) को सौंपेगी. हॉकी इंडिया के महासचिव नरेंद्र बत्रा ने बताया, "हमें जांच कमेटी से रिपोर्ट मिल गई है. हम उसका अध्ययन करेंगे और पूरे विचार विमर्श के बाद मामले को साई तक आगे बढ़ाएंगे."

जांच समिति के अध्यक्ष राजीव मेहता का कहना है कि कमेटी ने दोनों पक्षों से बातचीत की है और इसके अलावा सबूतों की जरूरत नहीं थी. जांच के दौरान कुछ खिलाड़ियों, मैनेजर, कोच एमके कौशिक और शिकायतकर्ता रंजीता देवी और मैनेजर मधु यादव से बात की.

जांच पैनल में राजीव मेहता, जफर इकबाल, अजीतपाल सिंह, सुदर्शन पाठक और अनुपम गुलाटी शामिल हैं. माना जा रहा है कि रिपोर्ट में सिर्फ तथ्य पेश किए गए हैं और कोई निष्कर्ष नहीं निकाला गया है.

हॉकी इंडिया में सूत्रों के हवाले से समाचार एजेंसी पीटीआई ने कहा है कि हॉकी इंडिया फेडरेशन भी अपनी ओर से कोई सिफारिश साई को नहीं देगा और पूरा मामला साई पर ही छोड़ देगा. एमके कौशिक को साई ने ही चुना है.

एमके कौशिक पर हॉकी खिलाड़ी रंजीता ने एक लिखित शिकायत में आरोप लगाया कि कौशिक ने उनका यौन उत्पीड़न किया. उसके बाद भारतीय हॉकी में तहलका मच गया. हॉकी इंडिया ने आननफानन में एक पांच सदस्यीय जांच समिति का गठन कर दिया.

एमके कौशिक ने अपना इस्तीफा हॉकी इंडिया की अध्यक्ष विद्या स्टोक्स को सौंप दिया जिसे गुरुवार को स्वीकार कर लिया गया. कौशिक ने खुद को निर्दोष बताया है और कहा है कि उनके ऊपर लगे आरोप निराधार हैं और वह एक साजिश का शिकार हो रहे हैं. हॉकी इंडिया ने उस वीडियोग्राफर को भी बर्खास्त कर दिया है जिसके सेक्स वर्करों के साथ आपत्तिजनक फोटो हॉकी संस्था को एक ईमेल के जरिए भेजे गए.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: ए कुमार

संबंधित सामग्री