1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

सूडान के राष्ट्रपति पर अरबों के गबन का आरोप

इंटरनेट पोर्टल विकीलीक्स द्वारा लीक अमेरिकी कूटनीतिक केबल के अनुसार सूडान के राष्ट्रपति ओमर अल बशीर ने 9 अरब डॉलर सरकारी पैसा अपने नाम से ब्रिटिश बैंक में जमा करा रखा है.

default

इस दस्तावेज में अंतरराष्ट्रीय क्रिमिनल कोर्ट (आईसीसी) के मुख्य वकील को यह कहते हुए उद्धृत किया गया है कि अमेरिकी अधिकारियों को इन आरोपों को सार्वजनिक करना चाहिए ताकि सूडान के जनमत को बशीर के खिलाफ किया जा सके. केबल के अनुसार आईसीसी के मुख्य अभियोक्ता लुइस मोरेना ओकैंपो ने संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका के पूर्व दूत अलेखांद्रो डी वोल्फ से कहा कि बशीर द्वारा गबन की गई राशि को सार्वजनिक करने से सूडानी नेता को गिरफ्तार करने के प्रयासों में मदद मिलेगी.

यह केबल बशीर के खिलाफ दारफुर विवाद के दौरान युद्ध अपराधों के आरोप में आईसीसी द्वारा गिरफ्तारी का वारंट जारी किए जाने के तुरंत बाद भेजा गया था. केबल के अनुसार ओकैंपो ने अमेरिकी अधिकारियों से कहा कि बशीर द्वारा संदिग्ध रूप से अलग रखी गई राशि संभवतः नौ अरब डॉलर है और वह बशीर के बारे में संघर्षकर्ता से चोर के रूप में सूडानी जनमत की राय बदल देगी.

विकीलीक्स ने ये दस्तावेज इंटरनेट पोर्टल के संस्थापक जूलियन असांज को एक ब्रिटिश अदालत द्वारा जमानत पर रिहा किए जाने के एक दिन बाद जारी किए हैं. इसमें कहा गया है कि ब्रिटेन के लॉयड बैंक को इस धन के बारे में जानकारी है. केबल के मुताबिक ओकैंपो ने कहा, "लंदन का लॉयड बैंक के पास यह धन है या उसे धन कहां है इसकी जानकारी है."

लॉयड बैंक ने तुरंत इसका खंडन किया है. बैंक की एक प्रवक्ता ने कहा, "हमारे पास इस बात के रूप सबूत नहीं हैं जो लॉयड बैंक और बशीर के बीच किसी संपर्क का इशारा करें." सूडान ने भी आरोपों का खंडन किया है. लंदन में सूडान के दूतावास के प्रवक्ता खालिद अल मुबारक ने दैनिक गार्डियन से कहा, "यह दावा उटपटांग है कि राष्ट्रपति सरकारी खजाने का पैसा अपने खाते में डाल सकते हैं, यह आईसीसी अभियोक्ता का हास्यास्पद दावा है."

विकीलीक्स का यह खुलासा ऐसे समय में आया है जब सूडान में एक जनमत संग्रह की तैयारी चल रही है जिसमें क्रिश्चियन बहुल दक्षिण सूडान के अलग होने की संभावना व्यक्त की जा रही है. मुस्लिम बहुल उत्तरी सूडान और ईसाई बहुल दक्षिण सूडान के बीच दशकों तक गृहयुद्ध चला है. दक्षिण के नेता बशीर पर 2005 की संधि में तय तेल की कमाई न देने का आरोप लगाते रहे हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: ओ सिंह

DW.COM

WWW-Links