1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

सुष्मिता को निर्देशक बनने की चाह

बॉलीवुड अदाकारा सुष्मिता सेन की नई फिल्म नो प्रॉब्लम रिलीज होने वाली है. इस फिल्म में सुष्मिता की भूमिका जरा हट के है. कोलकाता सुष्मिता सेन से बातचीत की हमारे संवाददाता प्रभाकर ने.

default

14 साल पहले वर्ष 1996 में दस्तक फिल्म से अपने करियर की शुरूआत करने वाली अभिनेत्री सुष्मिता सेन मानती हैं कि किसी भी फिल्म में बेहतर अभिनय से जितना संतोष और खुशी मिलती है, उतना उस फिल्म के हिट या फ्लाप होने से नहीं. सुष्मिता को अब फिल्मों के फ्लाप होने का डर नहीं सताता. वह अब एक कामयाब निर्देशक बनना चाहती हैं.

शकीरा कम नहीं

मुन्नी बदनाम हुई और शीला की जवानी जैसे आइटम नंबरों के काफी लोकप्रिय होने के बावजूद सुष्मिता को लगता है कि अगली फिल्म नो प्राब्लम में उन पर फिल्माया गया गाना शकीरा भी किसी मामले में इन दोनों से कम नहीं है. सुष्मिता कहती हैं कि इस गाने को काफी सराहा जा रहा है. सुष्मिता अपनी छोटी बेटी एलीशा के साथ एक कार्यक्रम के सिलसिले में कोलकाता आई थी.

Filmstar und ehemalige Schönheitskönigin Sushmita Sen

सुष्मिता से कोलकाता में खास बातचीत

नो प्रॉब्लम

सुष्मिता कहती हैं, ‘मैं अब अपने करियर के ऐसे पड़ाव पर पहुंच गई हैं जहां मुझे अपनी फिल्मों के हिट या फ्लॉप होने से कोई असर नहीं पड़ता. मैं अब हिट या फ्लॉप से परे हो गई हूं.' लंबे अरसे बाद इस सप्ताह उनकी कोई फिल्म रिलीज होने वाली है. अनिल कपूर के साथ नो प्रॉब्लम नामक इस फिल्म में उन्होंने एक ऐसी पत्नी की भूमिका निभाई है जिसे शादी के बाद पता चलता है कि उसका पति हीरो नहीं बल्कि जीरो है. इस सदमे में रोजाना दस मिनट के लिए उस पर पागलपन का दौरा पड़ता है और वह पति की हत्या करने पर उतारू हो जाती है.

निर्देशन का सपना

सुष्मिता सेन निर्देशक बनने की अपनी हसरत को पूरा करने के प्रयास में एक बार फिर जुट गई हैं. यह पूर्व विश्व सुंदरी आजकल बड़े-बड़े प्रोडक्शन हाउस के चक्कर लगा रही हैं और प्रोडक्शन कंपनियों को अपनी महत्वाकांक्षी फिल्म रानी लक्ष्मीबाई में पैसा लगाने के लिए मना रही हैं. वह बीते कुछ समय से रानी लक्ष्मीबाई फिल्म बनाने का प्रयास कर रही हैं. बीते साल ही इस फिल्म की शूटिंग शुरू होनी थी. लेकिन आर्थिक मंदी की वजह से ऐसा नहीं हो सका.

संतुलित जीवन

बीते महीने अपना 35वां जन्मदिन मनाने वाली सुष्मिता कहती हैं कि उनके लिए उम्र का यह पड़ाव मील के पत्थर की तरह है. पांच साल पहले और अब की सुष्मिता में क्या अंतर है ? इस सवाल के जवाब में वह कहती हैं, ‘मेरे पास अनुभवों का एक खजाना है. अब जीवन संतुलित लगने लगा है. पांच साल पहले कई चीजों का डर सताता था. करियर, भविष्य और ऐसे ही न जाने कितने सवाल मन में उमड़ते-घुमड़ते रहते थे. लेकिन अब ऐसा कुछ नहीं है. अब पीछे मुड़ कर देखने पर गहरी आत्मसंतुष्टि मिलती है.'

उम्दा भूमिका

अपनी अगली फिल्म नो प्राब्लम का जिक्र करते हुए वह कहती हैं कि जब पता चला कि अनीस बाजमी इसका निर्देशन करेंगे तो मैंने अपना रोल सुने बिना ही इस फिल्म के लिए हामी भर दी. सुष्मिता के मुताबिक, व्यावसाइक बालीवुड सिनेमा के विभिन्न पहलुओं को समझने के लिए अनीस जैसे निर्देशक के साथ काम करना जरूरी है.

सुष्मिता बताती हैं कि यह भूमिका बहुत ही उम्दा है और उन्हें लंबे समय बाद कामेडी रोल निभाने का अवसर मिला है. दो बेटियों को तो गोद ले चुकीं, अब शादी कब कर रही हैं ? सुष्मिता कहती हैं, ‘मैं जीवन में स्थापित हो चुकी हूं. अब शादी के लिए तैयार हूं. लेकिन फिलहाल इसके लिए कोई मिला नहीं है. फिर भी अगले दो साल के भीतर शादी का इरादा है.

DW.COM

WWW-Links