1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

सुरक्षा परिषद की सीट पर ओबामा चुप

भारत यात्रा से पहले अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भारत की तारीफ में जुमले तो बहुत सुनाए लेकिन जब असली मुद्दों की बात आई तो वह कन्नी काटते नजर आए. सुरक्षा परिषद की सीट हो या तकनीक एक्सपोर्ट की, ओबामा ने वादा नहीं किया.

default

बराक ओबामा ने कहा कि एशिया में अमेरिका की मौजूदगी के लिए भारत एक मील का पत्थर है. शनिवार से शुरू हो रही तीन दिन की भारत यात्रा के मकसद की बात करते हुए ओबामा ने कहा कि वह एक सच्ची रणनीतिक साझेदारी की बुनियाद रखने जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि भारत विदेश नीति के मामले में उनकी सर्वोच्च प्राथमिकताओं में शामिल है.

ओबामा ने कहा, "इस यात्रा से मुझे प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ मिलकर भारत अमेरिका सहयोग को एक नए स्तर पर ले जाने में मदद मिलेगी. यह साझेदारी हमारे मूल्यों और हितों पर आधारित है. इसीलिए मैं भारत के वैश्विक ताकत के रूप में उभरने का स्वागत करता हूं."

Barack Obama mit Frau Michelle Obama bei seiner Ankunft in London

लेकिन जब ओबामा से पूछा गया कि दोहरे उपयोग वाली तकनीक पर लगे प्रतिबंधों को उठाने के बारे में वह क्या सोचते हैं तो उन्होंने गोलमोल जवाब दिया. जब उनसे सुरक्षा परिषद की स्थायी सीट के लिए भारत को समर्थन देने पर सवाल किया गया तो उन्होंने इसे भी "मुश्किल और पेचीदा मसला" बताकर टाल दिया.

पाकिस्तान के मुद्दे पर जरूर ओबामा ने भारत को पसंद आने वाला जवाब दिया. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को मुंबई के आतंकी हमलावरों पर कार्रवाई करनी होगी.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः एन रंजन

DW.COM

WWW-Links