1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

'सुपर 30' के आनंद कुमार ने बुना स्कूल का सपना

बिहार में बहुत से गरीब छात्रों का आईआईटी में जाने का सपना सच करने वाले आनंद कुमार अब जरूरतमंद बच्चों के लिए एक स्कूल खोलना चाहते हैं. 'सुपर 30' कोचिंग इंस्टीट्यूट से मशहूर हुए आनंद कुमार यूएई के दौरे पर.

default

छात्रों के साथ आनंद कुमार

आनंद कुमार के 'सुपर 30' को रामानुजम स्कूल ऑफ मैथमैटिक्स के नाम से भी जाना जाता है. यह इंस्टीट्यूट प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग संस्थान आईटीटी में जाने का सपना देखने वाले गरीब तबके के बच्चों को मुफ्त कोचिंग मुहैया कराता है. अबु धाबी में एक लेक्चर के बाद आनंद कुमार ने पीटीआई के साथ इंटरव्यू में कहा, "बहुत से संगठन हैं जो हमारे साथ मिल कर काम करना चाहते हैं. हम उनसे बात कर रहे हैं."

उन्होंने कहा कि सीमित संसाधनों के बावजूद वह अब तक औरों की मदद लेने से हिकचते ही रहे हैं और इसकी साफ वजहें भी हैं. वह कहते हैं, "मैं किसी से पैसा तभी लूंगा जब स्कूल की योजना पूरी हो जाएगी. फिलहाल मैं अपने संसाधनों के दम पर ही इंस्टीट्यूट को चलाना चाहता हूं."

Schule Indien Patna Bihar

आनंद कुमार मानते हैं कि प्राथमिक और माध्यमिक स्तर की शिक्षा पर सबसे ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है. उनका इंस्टीट्यूट हर साल तीस छात्रों को आईटीटी की तैयारी के लिए रहने, आने जाने और कोचिंग की मुफ्त सुविधा देता है. पिछले तीन साल से उनके सभी 30 छात्र आईटीटी में दाखिला पा रहे हैं.

अब आनंद कुमार का सपना है कि ऐसा स्कूल बनाया जाए जहां चौथी या छठी से ही बच्चों को रख कर शिक्षा दी जा सके. वह कहते हैं, "बहुत से छात्र हैं जो प्रतिभाशाली हैं. लेकिन वे आगे नहीं पढ़ पाते हैं क्योंकि उन्हें अपने माता पिता के साथ काम करना पड़ता है. उनके पास और कोई चारा नहीं है. इसीलिए हमने छोटे से स्कूल परिसर के बारे में सोचा है जहां बच्चे हमारे साथ रह सकें."

वह बताते हैं कि बहुत से लोगों ने उन्हें मदद की पेशकश की है. उनके मुताबिक, "बहुत सी पेशकशें आ रही हैं. इनमें ऑनलाइन गणित पढ़ाने का प्रस्ताव भी शामिल है. हम इस तरह के एसोसिएशनों के साथ मिल कर पैसा कमाएंगे और फिर उस पैसे को स्कूल बनाने में लगाएंगे."

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः ओ सिंह

DW.COM

WWW-Links