1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

सुनहरे बालों की एक लट 60 हजार की

भारत और चीन के ही नहीं, पश्चिमी देशों में इन दिनों यूक्रेन से आने वाले नकली सुनहरे बालों की खूब मांग है. असली बालों को काट कर बनाए गए इन बालों को पूर्वी यूरोप से लेकर अमेरिका तक खूब पसंद किया जा रहा है.

default

सुंदर चोटी वाली यूक्रेन की पूर्व प्रधानमंत्री जुलिया तिमोशेन्को. उनके जैसे बालों की सभी को चाह है. लेकिन इस तरह के सुंदर सुनहरे लंबे बालों की दुकान पश्चिमी देशों में इन दिनों बहुत फल फूल रही है.

ब्लॉन्ड यानी सुनहरे, लंबे, सपाट और चमकदार बालों की यूक्रेन और रूस में बहुत मांग है. सिर्फ यूक्रेन में ही तीन दर्जन ऐसे एजेन्ट्स हैं जो सुंदर बालों और उन महिलाओं को ढूंढते रहते हैं जो अपने बालों से पैसे बनाना चाहती हैं, कई बार पैसे कमाने का उनके पास कोई और जरिया होता भी नहीं.

ये बाल ढूंढने वाले एजेन्ट अमेरिकी डेविड एल्मन के नीचे काम करते हैं. एल्मन यूक्रेव की राजधानी कीयेव में बालों की थोक दुकान चलाते हैं. पहले वह पूर्वी यूरोप में बने हुए विग अमेरिका में बेचते थे लेकिन इन दिनों सुनहरी चोटियों की बहुत मांग है.

जर्मनी, दूसरे यूरोपीय देशों और अमेरिका के ब्यूटी पार्लरों में बाल लंबे दिखाने के लिए असली बालों की मांग तेजी से बढ़ी है. रॉ वर्जिन हेयर के मालिक एल्मन कहते हैं कि मांग बहुत ज्यादा है "लेकिन हर सप्ताह डेढ़ सौ किलो सुनहरे बालों से ज्यादा नहीं भेज सकता."

स्लोवेनियाई बालों की पश्चिमी देशों में बहुत मांग है क्योंकि ये रंग और स्ट्रक्चर में पश्चिमी देशों की महिलाओं के बालों से मेल खाते हैं. जबकि भारत और चीन से आने वाले काले बालों को बाजार में लाने के लिए पहले सफेद किया जाता है और फिर उन पर रंग चढ़ाया जाता है.

Ukraine Ministerpräsidentin Julia Timoschenko

यूक्रेन की पूर्व प्रधानमंत्री यूलिया तिमोशेन्को

या तो इन बालों की लंबी लट बनाई जाती है या फिर इन्हें छोटे छोटे बैंड्स में लगाया जाता है और फिर ये बाल खास तरीके से महिला ग्राहक के सिर में लगाए जाते हैं. या तो इन्हें चोटी में गूंथ दिया जाता है या फिर उन्हें सीधे सिर पर चिपका दिया जाता है. पश्चिमी देशों के ब्यूटी पार्लरों में एक नई, लंबी लट की कीमत 1000 यूरो यानी करीब साठ हजार रुपये भी हो सकती है.

इतनी ज्यादा कीमत होने के बावजूद जर्मनी में ऐसे लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है जो इनका इस्तेमाल कर अपने बाल लंबे करना चाहती हैं. बर्लिन में कंटिग्स क्लब के मुखिया वोल्कर वोल्फ श्ट्राह्म कहते हैं, "हमारे पास हर साल ऐसी महिलाओं की संख्या बढ़ रही है जो कुछ खास चाहती हैं." श्ट्राह्म भी यूक्रेन से चोटियां मंगवाते हैं. यूक्रेन में सुनहरी सुंदर चोटी के लिए युलिया टिमोशेन्को मशहूर हैं.

एल्मन जैसे व्यापारी रूस में भी हैं जैसे कि एलेक्सेय कुसेन्जो. उनकी कंपनी बेली कापेली(सुंदर बाल) ने 2009 में एक करोड़ बीस लाख यूरो का व्यापार किया. आयातित बाल वह मोसाल्सक के एक गोदाम में रखते हैं. कुसेन्जो सुनहरे बालों को रूसी सोना कहते हैं और रूस से बड़ी मात्रा में बाल पश्चिमी देशों को निर्यात किए जाते हैं.

कुसेन्जो को बाल बेचने वालों में नतालिया विनोकुरोवा भी शामिल है जो इन बालों को बेचकर सिर्फ 300 डॉलर ही कमाती हैं. वह बाल खरीदने वालों को बालों का शिकारी करार देती हैं. पेशे से किसान नतालिया को 40 सेंटीमीटर बालों के लिए सिर्फ 50 डॉलर दिए गए.

वहां कई महिलाएं ऐसी हैं जो गरीबी के कारण अपने बाल बेचती हैं खासकर तब जब बच्चे स्कूल जाने लगते हैं और उन्हें किताबों और यूनिफॉर्म के लिए पैसों की जरूरत पड़ती है.

यूक्रेन में कई दीवारों पर कागज लगाए गए हैं कि कम से कम 30 सेंटीमीटर लंबे या सुनहरे बालों की तलाश. जो भी अपने बाल बेचता है उनसे पहले भाव ताव किया जाता है और फिर उनकी चोटी काट ली जाती है.

रूस में कुछ भी हो लेकिन बेलारुस में बाल बेचने के बारे में कोई महिला सोच भी नहीं सकती. वहां वैसे भी बाल बेचना प्रतिबंधित है.

रिपोर्टः एजेंसियां/आभा एम

संपादनः ओ सिंह

DW.COM

WWW-Links