1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

सुनवाई टलवाना चाहते हैं सलमान

पाकिस्तान के निलंबित पू्र्व क्रिकेट कप्तान सलमान बट ने स्पॉट फिक्सिंग के मामले में अगले महीने होने वाली भ्रष्टाचार निरोधी ट्राइब्यूनल की सुनवाई टालने को कहा है ताकि वह लंदन में संभावित आपराधिक मामले से निपट सकें.

default

26 वर्षीय सलमान के साथ गेंदबाज मोहम्मद आसिफ और मोम्मद आमिर को भी स्पॉट फिक्सिंग के मामले में आईसीसी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से सस्पेंड कर रखा है. उन पर अगस्त में लॉर्ड्स के मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच में पैसे लेकर नो बॉल फेंकने का आरोप है. आईसीसी ट्राइब्यूनल इन तीनों खिलाड़ियों के मामले की अगली सुनवाई दोहा में 6 से 11 जनवरी तक करेगा.

सलमान बट ने समाचार एजेंसी एएफपी को बताया, "मैंने सुनवाई को टालने की अपील की है ताकि मैं लंदन में अपने खिलाफ संभावित केस से निपट सकूं. आईसीसी बुधवार को टेलीकॉन्फ्रेसिंग के जरिए मेरी अपील पर फैसला करेगी."

स्कॉटलैंड यार्ड ने लंदन में उस होटल में छापे मारे जिसमें पाकिस्तानी खिलाड़ी ठहरे थे. इसके बाद ब्रिटेन की क्राउन प्रोसेक्यूशन सर्विस को दो रिपोर्टें भेजी गई हैं जिनके आधार पर इन तीनों खिलाड़ियों के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया जा सकता है. ब्रिटिश अखबार न्यूज ऑफ द वर्ल्ड ने स्टिंग ऑपरेशन कर कई पाकिस्तनी खिलाड़ियों पर स्पॉट फिक्सिंग का आरोप लगाया.

सलमान ने कहा कि ब्रिटेन के वकील यासीन पटेल दोहा में उनके मामले की पैरवी करेंगे. वह दूसरे वकीलों की मदद से आईसीसी को जवाब भेजेंगे. सलमान कहते हैं, "पटेल मेरे वकील हैं लेकिन पहले हम क्राउन प्रोसेक्यूशन केस को सुलटा लेना चाहते हैं, अगर ऐसा कोई मामला दर्ज होता है. इसके बाद आईसीसी के आरोप को देखेंगे."

वहीं आमिर और आसिफ आईसीसी की सुनवाई को टलवाना नहीं चाहते. आमिर के वकील शाहिद करीम ने कहा, "हम दोहा की सुनवाई में शामिल होना चाहते हैं. हो सकता है कि सलमान के वकील को केस की तैयारी के लिए और समय चाहिए लेकिन हम जनवरी में होने वाली सुनवाई में हिस्सा लेंगे."

सलमान स्पॉट फिक्सिंग के मामले में खुद को निर्दोष बताते हैं. पिछले हफ्ते ही उन्होंने स्काई न्यूज के साथ बातचीत में कहा, "मैंने अपनी जिंदगी या क्रिकेट करियर में ऐसा कुछ गलत नहीं किया है. मुझे उम्मीद है कि सभी आरोप गलत साबित होंगे और मैं फिर अपने देश के लिए खेल पाऊंगा."

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः वी कुमार

DW.COM

WWW-Links