1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

सुदर्शन के बयान पर गुस्साई कांग्रेस, माफी की मांग

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ पूर्व संघ प्रमुख के सुदर्शन के बयान के चलते कांग्रेस कार्यकर्ताओं में जबरदस्त रोष है और शुक्रवार को कई जगह पर विरोध प्रदर्शन हुए. आरएसएस ने सुदर्शन के बयान से किया किनारा.

default

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कई शहरों में के सुदर्शन के पुतले फूंके और जमकर नारे लगाए. सुदर्शन के खिलाफ एक एफआईआर भी दर्ज कराई गई है और पूर्व संघ प्रमुख के खिलाफ मानहानि का मुकदमा भी दायर किया गया है. दिल्ली में आरएसएस कार्यालय के बाहर प्रदर्शनकारियों को तितरबितर करने के लिए पुलिस ने पानी की तेज धार की बौछार की. दिल्ली में ही 700 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया गया है. जयपुर पुलिस ने के सुदर्शन के बयान पर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है.

भोपाल की अदालत में भी सुदर्शन के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया गया है. विरोध प्रदर्शन कर रहे कांग्रेसी कार्यकर्ता के सुदर्शन को गिरफ्तार करने और बिना शर्त माफी मांगने की मांग कर रहे थे. चेन्नई, पटना, कोलकाता, हैदराबाद, पुदुच्चेरी, देहरादून सहित कई अन्य शहरों में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किए हैं. सोनिया गांधी पर आपत्तिजनक टिप्पणी से गुस्साए कांग्रेस के कुछ नेताओं ने आरएसएस पर प्रतिबंध लगाने की मांग कर डाली है.

वहीं आरएसएस इस मामले से दूरी बनाने का प्रयास कर रहा है. आरएसएस ने स्पष्ट किया है कि के सुदर्शन के विचारों से संघ सहमत नहीं है. संघ की ओर से आए एक बयान में कहा गया है कि सुदर्शन की कथित टिप्पणी के बाद जिस तरह से प्रतिक्रिया हुई है वह दुर्भाग्यपूर्ण है और आरएसएस इस संबंध में खेद व्यक्त करता है. आरएसएस ने लोगों से संयम बरतने और शांति बनाए रखने की अपील की है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: एमजी

DW.COM