1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

सीमेंस खरीदेगा अपने भारतीय उपक्रमों के शेयर

जर्मन कंसर्न सीमेंस अपने भारतीय उपक्रम सीमेंस लिमिटेड के शेयरों को खरीद कर कंपनी में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाएगी. सीमेंस लिमिटेड भारत के शेयर बाजार में रजिस्टर्ड कंपनी है.

default

म्यूनिख स्थित सीमेंस 1 अरब यूरो खर्च कर भारतीय सीमेंस के 19.82 फीसदी शेयर खरीदेगी और उसके लिए निवेशकों को प्रति शेयर 14.60 यूरो (930 रुपए) की ऑफर दी गई है. यह रेट शुक्रवार को मुंबई शेयर बाजार में सीमेंस के शेयरों के भाव से 28 फीसदी ज्यादा है. सीमेंस के इस ऑफर का लक्ष्य कंपनी के 66,829,060 शेयर वापस खरीदना है.

फिलहाल भारतीय सीमेंस में जर्मनी की कंपनी का 55 फीसदी शेयर है. कंपनी ने सोमवार को म्यूनिख में बताया, "हिस्सेदारी में वृद्धि सीमेंस भारत में कारोबार के सफल विकास के लक्ष्य से कर रहा है." शेयरों की खरीद का ऑफर 25 मार्च से 13 अप्रैल तक रहेगा.

Siemens Handy

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज बीएसई को दी गई एक अधिसूचना में सीमेंस ने कहा है कि शेयरों की खरीद की प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद उसके पास कंपनी 252,870,150 इक्विटी शेयर होंगे जो कंपनी में 75 फीसदी हिस्से के बराबर होगा.

आर्थिक विशेषज्ञों का कहना है कि विश्वव्यापी आर्थिक विकास के साथ कारोबार में आई तेजी के कारण सीमेंस का भारी मुनाफा हुआ है. शेयरधारकों को लाभ का बड़ा अंश चुकाए जाने के बावजूद उसके पास इतना पैसा बचा हुआ है जिसे खर्च करने के लिए उसके पास योजना नहीं है.

कारोबार में तेजी जारी है. विकासशील देशों से मिले नए ऑर्डरों के कारण उसके ऑर्डरबुक भरे हुए हैं. सिर्फ भारत से ही होने वाले ऑर्डरों में पिछली तिमाही में 160 फीसदी का उछाल आया है. संरचना तकनीक के क्षेत्र में भारत में सीमेंस और ज्यादा कारोबार की उम्मीद कर रहा है. उसकी मशीनें रेलगाड़ी से लेकर परमाणु बिजलीघरों में इस्तेमाल होती है.

पिछले साल सीमेंस के स्विस प्रतिद्वंद्वी एबीबी ने भी 1 अरब डॉलर खर्च कर अपने भारतीय उपक्रम में अपना हिस्सा तीन चौथाई कर लिया था.

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: ओ सिंह

DW.COM

WWW-Links