1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

सीबीआई पूछताछ के लिए हाजिर हुए राजा

2जी स्पेक्ट्रम घोटाले में आरोपी पूर्व दूरसंचार मंत्री ए राजा पूछताछ के लिए सीबीआई के दफ्तर पहुंचे. केस दर्ज करने के साल भर बाद सीबीआई राजा से पूछताछ कर रही है. राजा के ठिकानों पर छापेमारी के बाद यह पूछताछ हो रही है.

default

खुद को निर्दोष बताते हैं राजा

स्पेक्ट्रम घोटाले के आरोपी डीएमके नेता ए राजा शुक्रवार सुबह साढ़े दस बजे नई दिल्ली में सीबीआई के दफ्तर पहुंचे. राजा पर हजारों करोड़ रुपये का घोटाला करने का आरोप है. आरोपों के मुताबिक केंद्रीय निगरानी आयोग और महालेखा परीक्षक ने कई बार 2जी स्पेक्ट्रम के आवंटन पर आपत्तियां जाहिर की. लेकिन राजा बिना किसी की परवाह किए आगे बढ़ते चले गए. उनके इस रुख की वजह से सरकार को लाखों अरबों रुपये का चूना लगा.

मामला साल भल पहले ही सामने आ चुका था. तब सीबीआई ने केस भी दर्ज किया. लेकिन इसके बावजूद केंद्रीय जांच एजेंसी केंद्रीय मंत्री ए राजा पर हाथ डालने से झिझकती रही. खूब हंगामे के बाद पिछले महीने राजा को इस्तीफा देना पड़ा.

सुप्रीम कोर्ट ने भी सीबीआई को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि वह राजा से पूछताछ क्यों नहीं कर रही है. अदालत ने सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय से 10 फरवरी तक मामले की प्रगति रिपोर्ट भी देने को कहा है. अदालत के कड़े रुख के बाद इसी हफ्ते सीबीआई ने राजा को पूछताछ के लिए हाजिर होने का समन भेजा. समन पाते ही राजा अस्पताल में मेडिकल जांच के लिए पहुंच गए. लेकिन शुक्रवार को उन्हें जांच एजेंसी के सवालों का जवाब देने पेश होना ही पड़ा.

सीबीआई के केस के मुताबिक 2जी स्पेक्ट्रम घोटाले की वजह से सरकार को 22,000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ जबकि महालेखा परीक्षक की रिपोर्ट में कहा गया है कि सरकार को एक लाख 76 हजार करोड़ रुपये का नुकसान हुआ.

इस बारे में सीबीआई कॉरपोरेट लॉबिस्ट नीरा राडिया से भी पूछताछ कर चुकी है. आरोप है कि नीरा राडिया ने अंग्रेजी मीडिया के कुछ बड़े पत्रकारों के जरिए पैरवी करवाई और राजा को दूरसंचार मंत्री बनवाया. सीबीआई राडिया, टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व प्रमुख प्रदीप बैजल और राजा के ठिकानों पर छापे भी मारे गए हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: ए कुमार

DW.COM

WWW-Links