1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

सियोल में जी-20 शिखर से पहले वैश्वीकरण विरोधी प्रदर्शन

दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल में जी-20 देशों की शिखर भेंट शुरू होने से पहले ही हजारों वैश्वीकरण विरोधियों ने रैली निकाली और कहा कि जी-20 के नेता रोजगार बनाने के लिए कुछ नहीं कर रहे.

default

विरोध प्रदर्शन के आयोजकों ने रैली में 40,000 लोगों के आने का दावा किया तो पुलिस ने काउंसिल भवन के सामने हुई रैली में भाग लेने वालों की संख्या 20,000 बताई. टेलिविजन रिपोर्टों के अनुसार प्रदर्शनकारियों को शांति बनाए रखने के लिए तैनात पुलिसकर्मियों के बीच हाथापाई भी हुई.

प्रदर्शनकारियों का एक हिस्सा रैली छोड़कर शहर के केंद्र में मार्च करना चाहता था. पुलिस ने सैकड़ों प्रदर्शनकारियों को शहर के केंद्र में घुसने से रोकने के लिए मिर्च गैस का उपयोग किया.

प्रदर्शनकारी 11-12 नवम्बर को होनेवाले शिखर भेंट के खिलाफ नारे लगा रहे थे जिसमें विश्व की 20 आर्थिक सत्ताओं के नेता भाग लेंगे. प्रदर्शनकारियों ने जो तख्तियां ले रखी थीं उनमें लिखा था, हम जी-20 के खिलाफ हैं.

Contentbanner G20 Seoul Summit 2010

प्रदर्शनकारी अमेरिका और दक्षिण कोरिया के बीच हो रहे मुक्त व्यापार समझौते का भी विरोध कर रहे हैं. उनका आरोप है कि जी-20 देशों की सरकारें रोजगार निर्माण के लिए पर्याप्त प्रयास नहीं कर रही हैं.

जी-20 शिखर सम्मेलन की सुरक्षा दश्क्षिण कोरिया की सरकार का अब तक सबसे बड़ा सुरक्षा अभियान होगा. जी-20 के नेताओं की सुरक्षा के लिए दक्षिण कोरिया की सरकार 50 हजार सुरक्षाकर्मियों को तैनात करेगी.

उधर पुलिस ने मुस्लिम देशों के दूतावासों को शिखर भेंट के खिलाफ आतंकी धमकी देने के लिए एक 46 वर्षीय दक्षिण कोरियाई नागरिक किम को गिरफ्तार किया है. जिन दूतावासों को फैक्स भेजा गया उनमें पाकिस्तान भी शामिल है. पुलिस ने कहा है कि किम पर कामकाज में बाधा का आरोप लगाया जाएगा.

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: एन रंजन

DW.COM

WWW-Links