1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

सिंजर पहाड़ी से खदेड़े गए आईएस लड़ाके

इराकी कुर्द सुरक्षा अधिकारियों के मुताबिक पेशमेरगा फौजों ने सिंजर पहाड़ी से आईएस लड़ाकों को खदेड़ कर आईएस के खिलाफ अब तक की सबसे बड़ी कामयाबी हासिल की है. अगस्त से यहां यजीदी और दूसरे समुदाय के हजारों लोग फंसे हुए थे.

अमेरिका के हवाई हमलों की मदद से इराक के कुर्दिस्तान में पेशमेरगा सेना इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों का मुकाबला कर रही है. कुर्दिस्तान के स्थानीय सुरक्षा परिषद के प्रमुख मसरूर बरजानी ने बताया कि "पेशमेरगा सेना सिंजर पहाड़ी तक पहुंच गई और पहाड़ी को आईएस से छुड़ा लिया." हालांकि पहाड़ी के ऊपर मौजूद एक यजीदी नेता का कहना है कि उन्हें सेना के तैनात होने के कोई संकेत नहीं मिले हैं. सेना के कमांडर ने शुक्रवार से लोगों को निकाले जाने की बात कही.

बरजानी के कार्यालय से जारी बयान में कहा गया है कि बुधवार की सुबह कार्रवाई शुरू की गई थी. इस ऑपरेशन में 8000 पेशमेरगा सैनिक शामिल थे. उन्होंने कहा, "यह ऑपरेशन आईएस के खिलाफ अब तक का सबसे बड़ा और कामयाब सैन्य ऑपरेशन है." जिहादी लड़ाके यहां से तल अफार और मोसूल जैसे उत्तरी इराकी इलाकों में आईएस के अहम ठिकानों की तरफ भागे. बरजानी ने बताया कि पेशमेरगा ने आईएस तक पहुंच रही सप्लाई की तमाम लाइनों को काट दिया और पिछले दो दिनों में करीब 700 वर्ग किलोमीटर के इलाके को आईएस से छुड़ा लिया है.

अगस्त में सिंजर पर हुए आईएस के हमले में हजारों की तादाद में लोग विस्थापित हुए. इस हमले के बाद ही अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने हवाई हमलों का एलान किया था. जब आईएस ने वहां हमला किया तो कई लोग भाग खड़े हुए, लेकिन बड़ी संख्या में लोग पहाड़ियों में ही फंसे रह गए. आईएस को खदेड़े जाने के बाद पोशमेरगा सैनिक इन लोगों को पहाड़ी से बाहर निकाल रहे हैं.

इलाके के पेशमेरगा कमांडर ने बताया कि सैन्य दल ने पहाड़ी को घेर लिया और उस रास्ते को सुरक्षित कर लिया जहां से लोगों को बाहर निकाला जाना था. पेशमेरगा फील्ड कमांडर दाऊद जुंदी ने बताया कि अभी भी आसपास के कुछ इलाकों में आईएस के कुछ लड़ाके मौजूद हैं जिन्हें साफ करने का काम बाकी है.

एसएफ/एजेए (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री