1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

साथी ढूंढ ढूंढ कर होती है उम्र कम

मर्दों को चाहिए कि हमसफर की तलाश में ज्यादा मेहनत मशक्कत न करें. अतिरिक्त प्रयास से उम्र मामूली सी कम हो जाती है. यह नसीहत नहीं, वैज्ञानिक सलाह है.

default

हाल ही में किए गए एक शोध के अनुसार मन मुताबिक साथी की तलाश में जी तोड़ मेहनत करने वाले पुरुष उन लोगों की तुलना में कम जीते हैं जिन्हें घर बैठे हमसफर मिल जाते हैं.

हार्वर्ड मेडिकल स्कूल की रिपोर्ट के मुताबिक साथी की मशक्कतभरी तलाश से उम्र तीन महीने तक कम हो सकती है.खासकर लैंगिक असमानता वाले समाज में जहां महिलाएं कम हों, यह स्थिति ज्यादा देखने को मिलती है.

ARD-Telenovela Sturm der Liebe

प्रेम के बिना दुख

दिलचस्प बात यह है कि लिंगानुपात से जुडी़ यह प्रवृत्ति जानवरों में भी पाई जाती है. हालांकि मनुष्यों पर भी ये बात लागू होने का खुलासा करने वाला यह पहला शोध है.

शोधकर्ता प्रो. निकोलस क्रिस्टकिस बताते हैं कि साथी की तलाश में ज्यादा मुसीबतों का सामना करने से पुरुषों की उम्र औसतन तीन महीने तक कम हो जाती है.

लिंगानुपात में असमानता ज्यादा होने पर मर्दों के लिए उम्र का जोखिम और भी ज्यादा बढ़ जाता है. उन्होंने कहा कि मुनासिब साथी के एवज में तीन महीना उम्र कम करना कोई बडी़ कीमत नहीं है लेकिन 65 साल की उम्र के बाद जीने के लिए मिला हर दिन काफी कीमती हो जाता है.

रिपोर्टः एजेंसियां/निर्मल

संपादनः आभा एम

DW.COM