1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

साझा हितों पर होगी भारत अमेरिका बातचीत: कृष्णा

भारत अमेरिका रणनीतिक संवाद से एक दिन पहले भारत ने उम्मीद जताई है कि इस वार्ता के जरिए दोनों देश अपने लिए नए लक्ष्य तय कर सकेंगे. आतंकवाद से मुकाबले और अफगानिस्तान के लिए रणनीति सहित कई मुद्दों पर चर्चा होनी है.

default

हिलेरी क्लिंटन के साथ कृष्णा

भारत अमेरिका व्यापार परिषद की 35वीं वर्षगांठ पर समारोह में संबोधित करते हुए कृष्णा ने कहा कि साझा हितों पर बातचीत के लिए वह अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन से मिलेंगे. "भारत और अमेरिका के बीच मंत्रिमंडल के स्तर पर पहली बार स्ट्रैटजिक डायलॉग ( रणनीतिक संवाद) हो रहा है. यह हमारे लिए एक महत्वपूर्ण अवसर है कि हम दो महान लोकतांत्रिक देशों की यात्रा का आकलन कर सकें और अपने लिए नए लक्ष्य तय कर सकें."

US-Präsident Barack Obama in Indien

"कई मुद्दों में हमारी साझा दिलचस्पी है और यह आतंकवाद और चरमपंथ से मुकाबले की रणनीति, परमाणु सुरक्षा बढ़ाने, अफगान मिशन की सफलता, विज्ञान और तकनीक के क्षेत्र में सहयोग, स्वच्छ ऊर्जा के लिए शोध और मॉनसून के पूर्वानुमान, स्वास्थ्य, शिक्षा और महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में झलकता है."

बैठक से पहले विदेश मंत्री एसएम कृष्णा ने कहा है कि भारत और अमेरिका आपस में कई हितों को साझा करते हैं. भारतीय विदेश मंत्री एसएम कृष्णा के नेतृत्व में उच्चस्तरीय मंत्रिमंडल वॉशिंगटन में अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन के नेतृत्व वाले अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल से कई अहम मुद्दों पर चर्चा करेगा. इस बातचीत को रणनीतिक संवाद का नाम दिया गया है.

कृष्णा ने भरोसा दिलाया कि सरकार परमाणु जवाबदेही विधेयक को संसद में पास कराने के लिए प्रतिबद्ध है. "भारत सरकार परमाणु जवाबेदही कानून को लागू करना चाहती है. हम चाहते हैं कि अमेरिकी कंपनियां भारत में निवेश के लिए आएं और कई कंपनियां पहले से ही भारतीय कंपनियों से बातचीत शुरू कर चुकी हैं. हम मजबूत साझेदारी कायम करना चाहते हैं, जैसा कि हमने तय किया है."

भारत और अमेरिका के बीच परमाणु करार के लागू होने के लिए परमाणु जवाबदेही विधेयक का पास होना जरूरी है लेकिन भारतीय जनता पार्टी और लेफ्ट पार्टियां इसका विरोध कर रही हैं. विपक्ष बिल को मौजूदा स्वरूप में पास किए जाने के खिलाफ है और इस मुद्दे पर कई बार संसद में हंगामा हो चुका है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: उज्ज्वल भट्टाचार्य

इससे जुड़े ऑडियो, वीडियो

संबंधित सामग्री