साउथ वेल्स यूनिवर्सिटी में बापू की मूर्ति | दुनिया | DW | 08.09.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

साउथ वेल्स यूनिवर्सिटी में बापू की मूर्ति

आस्ट्रेलिया में भारतीय लोगों से नजदीकी रिश्ता दिखाने के लिए सिडनी की साउथ वेल्स यूनिवर्सिटी में बापू की मूर्ति लगाई गई है. यूनिवर्सिटी को ये मूर्ति और बापू की कुछ किताबें भारत सरकार ने भेंट की हैं.

default

यूनिवर्सिटी में लाइब्रेरी के लॉन अब बापू की आभा से दमक रही है. ये कोशिश है आस्ट्रेलिया को ये बताने की कि भारतीय लोग हिंसा से कितनी दूर रहना चाहते हैं. बीते डेढ़ साल में आस्ट्रेलिया भारतीय छात्रों पर हमले के लिए बदनाम हुआ. पर आस्ट्रेलिया में भारत के राजनयिक अमित दासगुप्ता ने उम्मीद जताई है कि अब सब ठीक हो जाएगा.

Großbritannien Indien Mahatma Gandhi in London

पूरी दुनिया के हैं बापू

भारतीय राजनयिक के मुताबिक पिछले दिनों जब भारतीय छात्रों पर नस्ली हमलों में तेजी आई तभी यूनिवर्सिटी प्रशासन की तरफ से बापू की मूर्ति लगाने का प्रस्ताव रखा गया. यूनिवर्सिटी भारतीय छात्रों को पढ़ाई के लिए सुरक्षित माहौल देने का भरोसा और उनके साथ बेहतर रिश्ता बनाए रखना चाहती है.

मूर्ति के अनावरण समरोह में अमित दासगुप्ता ने कहा कि शिक्षा और वैश्वीकरण दोनों हिंसा को दूर भगाने के लिए जरूरी हैं. उन्होंने कहा, "महात्मा गांधी पैदा तो भारत में हुए लेकिन वो दुनिया के हर इंसान से जुड़े हैं". इस मौके पर वाइस चांसलर फ्रेड हिल्मर ने कहा कि यूनिवर्सिटी परिसर में खास जगह पर लगी मूर्ति ने छात्रों का ध्यान अपनी तरफ खींचना शुरू कर दिया है.

इस मौके पर भारतीय समुदाय के लोग भी बड़ी संख्या में मौजूद थे. ये समारोह वाटेल डे की 100वीं सालगिरह के मौके पर मनाया जा रहा है. वाटल वो पौधा है जो राख में पैदा होता है और दूसरे पौधों की हिफाजत करता है. वाटल को यूनिवर्सिटी में भरोसे का प्रतीक माना जाता है. अब इस भरोसे में बापू का आशीर्वाद भी जुड गया है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ एन रंजन

संपादनः ओ सिंह

DW.COM

WWW-Links