1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

सहवाग सबसे विध्वंसकारीः चैपल

इयान चैपल के मुताबिक वीरेंद्र सहवाग इस वक्त दुनिया के सबसे विध्वंसकारी बल्लेबाज हैं. चैपल कहते हैं कि सहवाग ऐसे अकेले बल्लेबाज हैं जो पहले ही दिन टेस्ट मैच की हार जीत तय करने का माद्दा रखते हैं. सचिन को बताया अद्वितीय.

default

अर्जुन सा निशाना, चीते सा वार

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान और क्रिकेट के बारीक विश्लेषक इयान चैपल ने वीरू की तारीफ कुछ इस अंदाज में की, ''वीरेंद्र सहवाग एक ऐसे विध्वंसक ओपनर हैं जो शुरुआती सत्र में ही टेस्ट मैच जिता सकते हैं. वह विश्व क्रिकेट के सबसे आक्रमक बल्लेबाज हैं.'' 86 टेस्ट मैचों में 22 शतक ठोंक चुके वीरू के स्ट्राइक रेट का जिक्र किया गया है. चैपल के मुताबिक दुनिया में अकेले सहवाग ही कई बरसों से निरंतर टेस्ट को वनडे की तरह खेले जा रहे हैं और इसमें सफल भी हैं.

Der indische Cricketspieler Virendra Sehwag

अनियंत्रित सहवाग

चैपल की 2010 की टीम में सचिन तेंदुलकर, महेंद्र सिंह धोनी, ग्रेम स्मिथ, हाशिम अमला, एबी डिवीलियर्स, स्वान, जहीर खान, डेल स्टेन और जेम्स एंडरसन ने भी जगह बनाई है. उन्होंने हर खिलाड़ी के चुनाव की वजह बताई है. मास्टर ब्लास्टर के बारे चैपल ने कहा, ''पोंटिंग के विपरीत तेंदुलकर का खेल करियर आगे बढ़ने के साथ निखरता गया है. अब वह खेल का आनंद उठाते हैं. गेंदबाजों पर हौवा खड़ा करने की कला अब वह फिर से दिखाने लगे हैं.''

वहीं विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में उन्हें महेंद्र सिंह धोनी से बेहतर कोई दूसरा नहीं लगा. श्रीलंका के कुमार संगकारा को पीछे रखते हुए चैपल ने धोनी को चुना. इसकी वजह बताते हुए उन्होंने लिखा, ''धोनी लगातार रन बना रहे हैं. उन्होंने कई पारियां ऐसे वक्त में खेली हैं जब भारत संकट में था. बल्लेबाजी के साथ ही दस्तानों से भी उन्होंने उम्दा काम किया है. वह चमक के साथ शांत होकर कप्तानी करते हैं.''

जहीर खान के बारे में चैपल कहते हैं, ''जहीर अब एक खतरनाक गेंदबाज बन गए हैं. वह नई और पुरानी गेंद से एक समान हमला करते हैं. मजबूत टीमों के खिलाफ उनका प्रदर्शन गजब का रहता है.''

ऑस्ट्रेलियाई पूर्व कप्तान के मुताबिक फरवरी में शुरू होने वाले वर्ल्ड कप में भारत, दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड जैसी टीमों का प्रदर्शन देखने लायक होगा. श्रीलंका को चैपल चौंकाने वाला बताते हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: ए जमाल

DW.COM

WWW-Links