1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

सहयोग बढ़ाने के संकल्प के साथ आसेम बैठक खत्म

दुनिया की 60 प्रतिशत आबादी का प्रतिनिधित्व करने वाले एशिया और यूरोप महाद्वीपों के बीच आपसी सहयोग बढ़ाने के संकल्प के साथ आसेम बैठक खत्म हो गई. यूरोपीय संघ की राजधानी ब्रसेल्स में पिछले दो दिनों से यह बैठक चल रही थीं.

default

यूरोपीय नेताओं से मिलते चीन के प्रधानमंत्री

मंगलवार को खत्म हुई एशिया यूरोप बैठक में हिस्सा ले रहे 46 देशों के नेताओं ने आपसी सहयोग को मजबूत करने की जरूरत पर बल दिया. जिससे विश्व बाजार सहित तमाम अंतरराष्ट्रीय मंचों पर संगठन की भूमिका मजबूत की जा सके.

बैठक के अंतिम दिन आर्थिक मसलों पर चर्चा की गई. इस दौरान यूरोपीय देशों ने एशिया के संतुलित विकास का हवाला देकर चीन पर उसकी मुद्रा यूआन की कीमत बढ़ाने का दबाव बनाए रखा. जर्मनी की चांसलर अंगेला मैर्केल, यूरो जोन के वित्त मंत्री ज्यां क्लोद युंकर, ईयू के आर्थिक मामलों के प्रमुख ओली रेन और यूरोपीय सेंट्रल बैंक के प्रमुख ज्याँ क्लोद त्रिचे ने चीन से अपने बाजार को अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता के लिए खोलने का अनुरोध किया. जिससे यूआन की कीमत में इजाफा हो सके. सभी नेताओं ने चीन के प्रधानमंत्री वेन जियाबाओ के साथ अलग अलग मुलाकातों में यह बात कही.

NO FLASH Asem Treffen Brüssel

आर्थिक विशेषज्ञों का मानना है कि यूआन की कीमत को जानबूझ कर डॉलर के मुकाबले काफी कम रखा गया है. इनका कहना है कि पश्चिमी देशों के दबाव में चीन द्वारा किए गए मुक्त व्यापार समझौतों के बावजूद यूआन की मौजूदा कीमत उसकी वास्तविक कीमत से 40 प्रतिशत कम है.

इसके मद्देनजर मैर्केल ने आज अपने संबोधन में कहा कि मुद्रा विनिमय की दर जितना हो सके वास्तविक ही होनी चाहिए. जिससे अंतरराष्ट्रीय विकास में सबकी भागीदारी हो सके. इसके जवाब में वेन जियाबाओ ने स्वीकार किया कि चीन में मुद्रा भंडार और विनिमय दर की समस्या है लेकिन इस समय सबसे महत्वपूर्ण मसला वैश्विक आर्थिक स्थिरता पर नजर रखना है.

बैठक में भारत का प्रतिनिधित्तव कर रहे उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने एशिया और यूरोप के बीच मुक्त व्यापार समझौते समय से पूरा होने की उम्मीद जताई. अंसारी ने कहा कि दिसंबर में अगले दौर की बैठक से पहले इस मकसद को आपसी व्यापार में तेजी लाकर ही पूरा किया जा सकता है. उन्होंने सुझाव दिया कि एशिया और यूरोप के बीच आपसी सहयोग बढ़ाने में भारत यूरोप मुक्त व्यापार समझौता मददगार साबित हो सकता है. इससे पहले अंसारी ने कल यूरोपीय कांउसिल के अध्यक्ष हेर्मन फान रोमपॉय से भी मुलाकात कर भारत और यूरोप के बीच आपसी सहयोग पहले की तुलना में बेहतर होने पर खुशी जताई.

रिपोर्टः एजेंसियां निर्मल

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links