1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

सस्ता या सुरक्षित ओलंपिक 2020

2020 में ओलंपिक खेलों के आयोजन के लिए देशों की आपसी भिड़ंत शुरू हो गई है. दावेदारों में स्पेन, तुर्की और जापान शामिल हैं. तुर्की का दावा है कि इस्तांबुल में ओलंपिक का आयोजन सबसे किफायती होगा.

वैसे तो स्पेन में भी स्टेडियम और बुनियादी ढांचा तैयार है और खेल को अपने देश में आयोजित करने के लिए वहां की सरकार केवल 2.37 अरब यूरो मांग रही है. हालांकि तुर्की के दावे ने मैड्रिड की वकालत करने वालों को थोड़ा हैरान किया है. मेजबानी पर वोटिंग अगले पांच दिनों में होनी है.

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक परिषद आईओसी के प्रमुख जाक रोग का कार्यकाल जल्द खत्म होने वाला है और आईओसी के प्रमुख पद के लिए भावी उम्मीदवार नहीं चाहते कि ओलंपिक आयोजन भविष्य में और महंगे हों. इस सिलसिले में इस्तांबुल का दावा आईओसी को प्रभावित कर सकता है. इस्तांबुल 2020 के खेल प्रमुख आल्प बेरकर कहते हैं कि इस्तांबुल का खर्च बाकी देशों के मुकाबले सबसे कम होगा, "तीन अरब यूरो का काम पहले से हो चुका है." तुर्की की ओर से प्रस्ताव रखने वाले हसन अरत कहते हैं कि तुर्की के नेता जो वादा करते हैं, उसे पूरा भी करते हैं. तुर्की ने मरमराय सुरंग का निर्माण भी पूरा कर दिया है. यह सुरंग बोस्फोरस जलमार्ग के नीचे से होते हुए तुर्की के यूरोपीय हिस्से को एशियाई हिस्से से जोड़ती है. अरत कहते हैं कि अगर ओलंपिक तुर्की में होते हैं तो पहली बार खेलों का आयोजन एक मुस्लिम देश में होगा. यह केवल तुर्की के लिए ही नहीं बल्कि ओलंपिक के लिए भी बड़ी बात होगी.

ब्राजील में जमा हुए ओलंपिक 2020 के दावेदार दूसरे देशों और खिलाड़ियों से मदद हासिल करने की कोशिश कर रहे हैं. तुर्की को इस बीच पहला धक्का भी लग गया है. टर्किश एयरलाइंस का प्रचार करने वाले अर्जेंटीना के फुटबॉलर लियोनेल मेसी ने तुर्की के बजाय स्पेन में ओलंपिक खेलों को आयोजित करने का समर्थन किया है. और तो और, मेसी रियो दे जनेरो में मैड्रिड 2020 टीशर्ट और स्पेन का झंडा लेकर मीडिया के सामने आए. मेसी ने कहा, "अगर मैड्रिड में ओलंपिक होते हैं तो यह खेलों के लिए ही नहीं बल्कि स्पेन में खिलाड़ियों के लिए भी फायदेमंद होगा." मेसी का मानना है कि वह स्पेन में रहते हैं और इसलिेए वहां ओलंपिक खेलों का आयोजन कराना जरूरी है. वह अर्जेंटीना के लिए ओलंपिक में शामिल हुए और यह सारे खिलाड़ियों के लिए बेहद अच्छा अनुभव है.

स्पेन 2012 और 2016 ओलंपिक खेलों के लिए बोली में दूसरे और तीसरे नंबर पर रहा है. 2012 के ओलंपिक लंदन में हुए और 2016 के खेल रियो दे जेनेरो में होंगे. तीसरा दावेदार जापान है. ओलंपिक में जापान के प्रतिनिधि और टोक्यो के मेयर नाओको इनोसे अपनी रणनीति को लेकर बिलकुल साफ हैं. उनका कहना है, "हम सुरक्षित हैं, हम दुनिया के सबसे सुरक्षित शहरों में से हैं और हमारे पास पहले से ही खेलों के लिए 4.5 अरब डॉलर बैंक में हैं."

एमजी/एनआर(एएफपी, रॉयटर्स)

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री