1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

सर्जिकल स्ट्राइक को "फर्जी" कह संजय निरुपम बने "गद्दार"

कांग्रेस नेता संजय निरुपम ट्विटर पर छाए हुए हैं. इसकी वजह है उनका बयान जिसमें उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक के भारत सरकार और सेना के दावे को फर्जी बताया है.

भारतीय सेना का कहना है कि उसने पिछले दिनों पाकिस्तानी कश्मीर में घुस कर कई आंतकवादी ठिकानों को नष्ट कर दिया. हालांकि पाकिस्तान ऐसे किसी हमले से इनकार करता है और इस बारे में भारत के सभी दावों को गलत बताता है. संजय निरुपम ने कहा है कि जब तक केंद्र सरकार सबूत पेश नहीं कर देती है, तब तक सर्जिकल स्ट्राइक के दावे फर्जी ही लगेंगे.

संजय निरुपम ने ट्वीट किया, "हर भारतीय पाकिस्तान के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक चाहता है, लेकिन फर्जी नहीं जिससे सिर्फ भाजपा को राजनीतिक फायदा पहुंचे. राष्ट्रीय हितों पर राजनीति.”

इस ट्वीट के बाद से ही संजय निरुपम ट्विटर पर ट्रेंड करने लगे. हजारों लोगों ने उनके बयान पर ट्वीट किया है. बहुत से लोग उन्हें आड़े हाथ ले रहे हैं. ट्विटर यूजर सर रविंद्र जेडजा ने ट्वीट किया, "संजय निरुपम ने सर्जिकल स्ट्राइक न होने की बात कह कर पूरी भारतीय सेना और सरकार को झूठा कह दिया है. ऐसे गद्दारों को पाकिस्तान भेज देना चाहिए.”

वहीं सोनम महाजन ने अपने ट्वीट के जरिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मांग की है कि वो संजय निरुपम को तत्काल पार्टी से निकाल दें.

आशीष धर ने लिखा कि जब तक संजय निरुपम जैसे लोग विपक्ष में मौजूद रहेंगे भारतीय जनता पार्टी कभी हारने वाली नहीं है और वो मतदाताओं को गंभीरता से लेना बंद कर देगी.

अरुण कांत नाम के ट्विटर यूजर ने भी संजय निरुपम को गद्दार बताते हुए उन पर सवाल उठाया है.

वहीं कुछ लोग इस मुद्दे पर चुटकी भी ले रहे हैं. जॉय पाल ट्वीट करते हैं कि अगली बार भारतीय सेना जब ऑपरेशन करेगी तो संजय निरुपम और केजरीवाल को भी साथ ले जाएगी.

उजस मोदी लिखते हैं कि गद्दार देश में ही मौजूद हैं और हद तो ये है कि ये बात प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कह रहे हैं.

 

संबंधित सामग्री