1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

सराहना हर पुरस्कार से बढ़कर: किरण राव

आमिर खान फिल्म पुरस्कारों से दूर रहना पसंद करते हैं. यहां तक कि पुरस्कार समारोहों में भी नहीं जाते. उनके अनुसार जनता का प्यार ही सबसे बड़ा अवॉर्ड है. अब पत्नी किरण राव भी उसी राह पर चल निकली हैं.

जानीमानी फिल्मकार और अभिनेता आमिर खान की पत्नी किरण राव का कहना है कि सराहना हर पुरस्कार से बढ़कर होती है. किरण राव ने यूटीवी मोशन पिक्चर्स के सहयोग से बनी आनंद गांधी की फिल्म 'शिप ऑफ थीसियस' को पिछले साल इंट्रोड्यूस किया था. किरण इस फिल्म को राष्ट्रीय पुरस्कार मिलने से बेहद खुश हैं. लेकिन उन्हें यह भी लगता है कि फिल्मकारों के लिए सबसे बड़ा इनाम दर्शकों से मिली सराहना है.

'शिप ऑफ थीसियस' और 'शाहिद' फिल्म के निर्माताओं ने राष्ट्रीय पुरस्कार जीतने का जश्न मनाने के लिए एक पार्टी दी. इस दौरान किरण ने कहा, "सभी फिल्मकार लोभी हैं. हम सब कुछ चाहते हैं. लेकिन मेरे ख्याल से जब दर्शक फिल्म पसंद करते हैं तो वह तारीफ किसी भी पुरस्कार से कहीं अधिक संतोष देने वाली होती है. मेरे ख्याल से इन दोनों फिल्मों ने वही किया. इन फिल्मों ने लोगों के दिलों को छुआ. एक फिल्मकार के रूप में यह सबसे बड़ा इनाम है."

उल्लेखनीय है कि 61वें राष्ट्रीय पुरस्कार समारोह में 'शिप ऑफ थीसियस' ने सर्वश्रेष्ठ फीचर फिल्म की श्रेणी में राष्ट्रीय पुरस्कार जीता. इस फिल्म का प्रीमियर 2012 में टोरंटो अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में हुआ था, लेकिन इसे भारत में 2013 में रिलीज किया गया. हंसल मेहता को 'शाहिद' के लिए सर्वश्रेष्ठ निर्देशक के राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया. इसी फिल्म के लिए राजकुमार राव को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार दिया गया.

आईबी/एमजे (वार्ता)

संबंधित सामग्री