1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

समलैंगिकता छिपाने के लिए की बीवी की हत्या

भारतीय मूल के एक बैंक कर्मचारी पर आरोप है कि उसने अपनी समलैंगिकता छिपाने के लिए अपनी पत्नी को गला घोंट कर मार डाला और उसके शरीर को जला दिया.

ब्रिटेन की एक अदालत में अब मामले की सुनवाई चल रही है. आरोप है कि 29 साल के जसवीर राम गिंडे ने मिडलैंड के वॉलसाल में पत्नी वर्खा रानी पर घर में वैक्यूम क्लीनर के मेटल पाइप से हमला किया और फिर उसके शरीर को बगीचे की भट्टी में जला दिया. इतना ही नहीं अपने पड़ोसी को बताया कि सामान्य कचरा जलाने के लिए उसने यह आग लगाई है.

गिंडे ने गैर इरादतन हत्या स्वीकार की है लेकिन जानबूझकर हत्या से इनकार किया है. रानी और गिंडे की शादी पिछले साल मार्च में हुई थी और वह अगस्त में वीजा मिलने के बाद ब्रिटेन पहुंची. लेकिन सरकारी वकील के मुताबिक शादी से कई साल पहले 2008 में ही गिंडे ने अपने एक दोस्त से कहा था कि वह पुरुषों की ओर आकर्षित महसूस करता है.

पिछले साल 12 सितंबर को रानी की मौत से कुछ दिन पहले गिंडे ने इंटरनेट पर भट्टी की तलाश की थी. गिंडे ने पहले पुलिस को बताया कि उसकी पत्नी ने सिर्फ वीजा पाने के लिए उसका इस्तेमाल किया था और वह घर से चली गई है. वकील देबोराह गाल्ड ने कहा कि वह खुद को पीड़ित के तौर पर पेश करना चाहता था. गैर इरादतन हत्या के अलावा गिंडे ने पुलिस से झूठ बोलने का अपराध भी स्वीकार किया है.

पुलिस को रानी का शरीर उसके साफ सुथरे बगीचे में मिला. पड़ोसी ने बगीचे में धुएं की शिकायत की थी. धुआं इतना ज्यादा था कि पास के तालाब पर बैठे एक आदमी को लगा कि किचन में आग लग गई है.

पुलिस अधिकारियों ने घर के बाहर लगी धातु कि भट्टी जब खोली तो उसमें खोपड़ी का हिस्सा मिला. पोस्ट मार्टम जांच से पता चला कि उसके शव को मोड़ कर छोटी भट्टी में घुसाया गया था. शरीर इतना जल चुका था कि उम्र का पता नहीं लगाया जा सका. पिता के डीएनए से मिला कर शव की पहचान की गई. भट्टी में एक चूड़ी, एक ब्रेसलेट और रिंग मिली जो रानी को शादी के दिन पहनाई गई थी.

एएम/एमजे (पीटीआई)

संबंधित सामग्री