1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

सब्सिडी बंद करने के खिलाफ खनिकों का प्रदर्शन

जर्मनी के खान मजदूर कोयला सब्सिडी को समय से पहले समाप्त करने की यूरोपीय संघ की योजना के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं. तीस देशों के खनिक आज यूरोपीय संघ के मुख्यालय पर भी विरोध जताएंगे.

default

जर्मनी की सारे कोयला खानों पर खनिकों का विरोध प्रदर्शन हो रहा है. बुधवार सुबह इब्बेनबुइरेन खदान के 1,800 खनिकों ने रैली की और कोयला सब्सिडी समाप्त करने की यूरोपीय संघ की योजना का विरोध किया. खनिकों की ट्रेड यूनियन आईजी-बीसीई के अध्यक्ष मिषाएल वासीलियाडिस ने रैली को संबोधित करते हुए कहा, "यूरोपीय संघ की योजना का एकमात्र नतीजा सामाजिक कटौती और बहुत से सदस्य देशों में सामाजिक टकराव होगा."

जर्मनी के नॉर्थ राइन वेस्टफेलिया और जारलंड प्रांतों में मार्ल, बोट्रोप्प, जारब्रुइकेन और कंप-लिंटफोर्ट में विरोध प्रदर्शन की योजना है. जर्मन खदानों में काम करने वाले करीब 1,200 खनिक ब्रसेल्स जा रहे हैं जहां वे सब्सिडी समाप्त करने की यूरोपीय संघ की योजना का विरोध करेंगे. ब्रसेल्स में प्रदर्शन का आयोजन यूरोपीय ट्रेड यूनियन संघ ईजीबी ने किया जिसमें 30 देशों के 100,000 से अधिक खनिक भाग लेंगे.

यूरोपीय आयोग ने 2014 से कोयले के लिए सरकारी सब्सिडी खत्म करने का प्रस्ताव दिया है. जर्मनी में 2007 में हुए समझौते के अनुसार कोयले की खदानों के लिए सब्सिडी 2018 तक लागू रहेगी. इस समझौते का लक्ष्य खदान क्षेत्रों में अचानक बेरोजगारी को रोकना और पीढियों से खान में काम कर रहे खनिकों को रोजगार के दूसरे अवसर देने के लिए समय देना था.

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: ए कुमार