1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

सबसे मंहगी किताब नीलामी को तैयार

19 वीं सदी के अमेरिकी पक्षीविद जॉन जेम्स ओदुबॉन की दुर्लभ किताब बिकने को तैयार है. दुनिया की सबसे मंहगी किताबों में शुमार जॉन की किताब बर्डस ऑफ अमेरिका के साथ शेक्सपियर के नाटकों की पहली कृति की भी नीलामी हो रही है.

default

ब्रिटिश ऑक्शन कंपनी सदबीज लंदन में सात दिसंबर को जॉन जेम्स ओदुबॉन की "बर्डस ऑफ अमेरिका" और शेक्सपियर की "फर्स्ट फोलियो" की नीलामी करेगी. जॉन के हाथों बनाई गई पक्षियों की तस्वीरों वाली यह किताब 62 से 92 लाख अमेरिकी डॉलर में बिकने की उम्मीद की जा रही है. पक्षीविदों के लिए पीढ़ी दर पीढ़ी प्रेरणा की स्रोत रही इस किताब में चिड़ियों की 500 प्रजातियों के 1000 रंगीन चित्र बने हैं.

BdT Deutschland Wetter Vogelpark in Walsrode Pelikan

1851 में जॉन के निधन से कुछ समय पहले प्रकाशित हुई इस किताब पर उन्होंने 12 साल तक कड़ी मेहनत की थी.इससे पहले सन 2000 में हुई नीलामी के दौरान सदबीज ने इसे अपनी प्रतिद्वंद्वी कंपनी क्रिस्टीज से 88 लाख अमेरिकी डालर में खरीदा था. इस किताब की सिर्फ 119 प्रतियां मौजूद हैं.

कंपनी की ओर से बताया गया है कि नीलामी में इस किताब के साथ शेक्सपियर के नाटकों का पहला संग्रह "फर्स्ट फोलियो" भी बेचा जाएगा.

1623 में तैयार किए इस संग्रह में शेक्सपियर के मैकबेथ सहित 36 नाटक हैं. कंपनी को इसके लिए 15 से 23 लाख अमेरिकी डॉलर तक मिलने की उम्मीद है. इसे अंग्रेजी साहित्य की सबसे दुर्लभ कृति माना जाता है.

महान जीव वैज्ञानिक डार्विन ने अपने सबसे महत्वपूर्ण शोधग्रंथ "द ऑरीजन ऑफ स्पेसीज" में अपने जमाने के मशहूर प्रकृतिविज्ञानी जॉन जेम्स ओदुबॉन का तीन बार जिक्र किया था. नीलामी में महारानी एलिजाबेथ प्रथम के पत्रों, पुरानी किताबों, पांडुलिपियों और कलाकृतियों को भी शामिल किया गया है.

रिपोर्टः एजेंसियां/निर्मल

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links