1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

सबसे अच्छा सपेरा हैं ओबामा: कास्त्रो

क्यूबा के पूर्व राष्ट्र प्रमुख फिदेल कास्त्रो बहुत वक्त के बाद अमेरिका के खिलाफ बोले हैं. उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा को अब तक का सबसे अच्छा सपेरा बताया है.

default

फिदेल कास्त्रो ने कहा कि नाटो एक सैन्य माफिया है. अफगानिस्तान युद्ध असल में नरसंहार ही है. मंगलवार को कास्त्रो ने एक लेख लिखा है जो लिस्बन में हुए नाटो सम्मेलन के जवाब के रूप में छापा गया है. इस लेख में क्यूबा के पूर्व नेता ने कहा है कि नाटो एक आक्रामक संस्था है जिसने अरबों भूखे, बेघर और गरीब लोगों को नजरअंदाज किया है.

Kuba Fidel Castro Interview in Havanna

84 साल के कास्त्रो इस वक्त साम्यवाद का झंडा उठाने वाले अपने स्तर के दुनिया में अकेले नेता हैं. उन्होंने 1959 में क्रांति के जरिए क्यूबा में साम्यवादी शासन कायम किया. इसके बाद वह 2006 तक राज करते रहे. इसके बाद स्वास्थ्य कारणों से उन्होंने सत्ता अपने भाई राउल कास्त्रो को सौंप दी. अपने शासन के दौरान उन्होंने हमेशा अमेरिका का विरोध किया. हालांकि पिछले काफी दिन से उनके मुंह से सुर सुनाई नहीं दिया था.

लेकिन मंगलवार को उन्होंने नाटो और अमेरिका पर तीखे कटाक्ष किए. उन्होंने कहा, "नाटो एक शिकारी पक्षी है जो अमेरिका की गोद में बैठा है. अमेरिका ने इसका इस्तेमाल अफगानिस्तान में नरसंहार जैसा युद्ध छेड़ने में किया."

लिस्बन में नाटो सम्मेलन के दौरान पारित किए गए प्रस्ताव को भी कास्त्रो ने खारिज कर दिया. नाटो ने 2014 तक अफगान लोगों को सुरक्षा का जिम्मा सौंपने की योजना बनाई है. कास्त्रो ने लिखा है कि विद्रोही ताकतों से हारकर नाटो ऐसा कर कर रहा है.

ओबामा के बारे में कास्त्रो ने लिखा है, "ओबामा पहले ही स्वीकार कर चुके हैं कि अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी की उनकी योजना टाली जा सकती है. नोबेल पुरस्कार के बाद अब हमें उनको अब तक के सबसे अच्छे सपेरे का पुरस्कार भी देना चाहिए."

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links