1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

"सचिन बेस्ट और पोंटिंग सबसे आक्रामक"

वेस्ट इंडीज के मशहूर क्रिकेट खिलाड़ी विवियन रिचर्ड्स ने सचिन तेंदुलकर की तारीफ करते हुए उन्हें सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी बताया. रिचर्ड्स ने कहा वेस्ट इंडीज का क्रिकेट रसातल में. खिलाड़ियों को मदद देना चाहते है.

default

121 टेस्ट मैचों में 24 शतक मारने वाले वेस्ट इंडीज के खिलाड़ी विवियन रिचर्ड्स का मानना है क्रिकेट का टेस्ट फॉर्मेट सबसे अच्छा है और इसमें सबसे अच्छा टेलेंट सामने आता है.

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुए पहले टेस्ट की तारीफ करते हुए विव ने कहा,"टेस्ट मैच और खासतौर से इसका आखिर दौर, ये क्रिकेट मेरे विचार सबसे अच्छा है. ये फॉर्मेट अच्छे और बुरे खिलाड़ियों को अपने आप अलग अलग कर देता है."

Der indische Cricketspieler Sachin Tendulkar

विव रिचर्ड्स का मानना है कि ऑस्ट्रेलिया के कप्तान रिकी पोंटिंग सबसे आक्रामक खिलाड़ी हैं जबकि सचिन को वो सबसे अच्छा बैट्समन मानते हैं. "मेरे लिए रिकी पोंटिंग सबसे आक्रामक खिलाड़ी हैं. मुझे उनकी आक्रामकता हमेशा अच्छी लगती है. लेकिन जो भूमिका सचिन भारत के लिए निभा रहे हैं, ये बल्लेबाजी मेरे लिए सबसे अच्छी है. जो काम सचिन कर रहे हैं और पहले जिस तरह से वह खेलते रहे हैं, उनके करियर के यह दो अलग चैप्टर्स हैं. जहां तक बल्लेबाजी का सवाल है वह सबसे बड़े हैं."

रॉयटर्स समाचार एजेंसी से बात करते हुए रिचर्ड्स ने आश्चर्य जताया कि कैसे क्रिकेट में स्पॉट फिक्सिंग जैसे मामले सिर उठा सकते हैं. "मुझे लगता है कि इन दिनों तनख्वाह बहुत अच्छी है. अगर आप एक स्तर पर पहुंच जाते हैं और अपनी पहचान बना लेते हैं तो आप भारत के आईपीएल जैसे टूर्नामेंट में खेल सकते हैं." विव का कहना था कि कभी किसी सट्टेबाज ने उनसे संपर्क नहीं किया. "मेरे समय में भी ये हो सकता है. लेकिन मैं बहुत पक्का था और इसलिए कोई सट्टेबाज मेरे पास आकर मैच फिक्स करने की बात नहीं कर सकता था. मेरा और मेरे देश का सम्मान दांव पर लग जाता. ये मेरे लिए कुछ डॉलर्स से बहुत ज्यादा कीमत का है."

Ricky Ponting

विवियन रिचर्ड्स का मानना है कि वेस्ट इंडीज का क्रिकेट रसातल में चला गया है. उन्होंने वेस्ट इंडीज क्रिकेट बोर्ड की कड़ी आलोचना की कि वह पुराने खिलाड़ियों को टीम की मदद करने से रोक रहा है. "फिलहाल करैबियाई देश में क्रिकेट बिलकुल नीचे है. ये खराब हालत में है. बहुत काम की जरूरत है ताकि ये अपनी खोई हुई रौनक फिर से पा ले. मैं वेस्ट इंडीज के क्रिकेट से अब बिलकुल जुड़ा हुआ नहीं हूं. अधिकतर पुराने खिलाड़ियों को बाहर कर दिया गया है. रचनात्मक आलोचना को यहां महत्व नहीं देते."

58 साल के क्रिकेटर ने कहा, "मैं वही भूमिका लेना चाहता हूं जैसी ऑस्ट्रेलिया की टीम के लिए ग्रेग चैपल की है. मुझे लगता है अच्छे टेलेंट के लिए मेरे पास निगाह है. हमने बोर्ड में ये कभी नहीं किया."

एंटिगा और बार्बाडोस के प्रतिनिधि मंडल के मुखिया के तौर दिल्ली आए विव का मानना है, "ये खराब सुनाई पड़ता है कि बोर्ड में खेल संगठनों का प्रभुत्व है. वेस्ट इंडीज क्रिकेट का भविष्य निश्चित ही संदेहास्पद है."

रिपोर्टः एजेंसियां/आभा एम

संपादनः ए जमाल

DW.COM

WWW-Links