1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

"सचिन पर जोर लगाने का फायदा नहीं"

दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाज डेल स्टेन की गेंदबाजी का करिश्मा भारतीय टीम पहले ही टेस्ट मैच में देख चुकी है. जब उनका स्पेल आता है तो बल्लेबाज चुपचाप उसे गुजार देने में ही भलाई समझता है. लेकिन एक बल्लेबाज से स्टेन भी बचते हैं.

default

डेल स्टेन कहते हैं कि जब सचिन तेंदुलकर अपने रंग में हों तो बाकी बल्लेबाजों को निशाना बनाना ही बेहतर है. वह कहते हैं, "सचिन बहुत अच्छे खिलाड़ी हैं. उन पर अपनी ऊर्जा खर्च करने का कोई फायदा नहीं. बेहतर है कि दूसरों पर ध्यान लगाओ." स्टेन ने सचिन को उनके 51वें शतक पर भी बधाई दी. 146 रन की इस पारी की बदौलत भारत दक्षिण अफ्रीका के पहले पारी के स्कोर को पार करने में कामयाब रहा.

इस वक्त स्टेन सीरीज के सबसे अच्छे गेंदबाज कहे जा रहे हैं. वह खुश हैं कि लाइन और लेंथ पर उनकी गेंद सही जा रही है. वह कहते हैं, "गेंद अच्छे से जा रही है. विकेट पाना हमेशा अच्छा लगता है. आज और ज्यादा अच्छा लगा क्योंकि हमारे पास कालिस नहीं थे. गर्मी में 30 ओवर गेंदबाजी करना वाकई मुश्किल है."

स्टेन ने भारत की पहली पारी में 5 विकेट लिये. उनकी गेंदबाजी का ही कमाल रहा कि भारत सिर्फ 2 रन की लीड ले पाया. हालांकि कई बार किस्मत ने भी दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाजों का साथ नहीं दिया. लेकिन स्टेन बीती ताहि बिसार कर आगे के बारे में सोच रहे हैं. उन्होंने कहा, "अब पिछली बातों पर रोने का कोई फायदा नहीं. यही टेस्ट क्रिकेट है. कुछ दिन पहले मैं दुबई में खेला. मुझे विकेट नहीं मिले. तो ठीक है न. आप सही जगह गेंदबाजी करते रहो, विकेट जरूर मिलेंगे."

तीसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद दक्षिण अफ्रीका ने 50 रन की लीड हासिल कर ली. हालांकि अब भी मैच के बारे में भविष्यवाणी नहीं की जा सकती. स्टेन तो यह भी अंदाजा लगाने को तैयार नहीं कि कितना स्कोर जिताऊ टारगेट हो सकता है. बस वह चाहते हैं कि बल्लेबाज नई गेंद को संभाल जाएं.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः एम झा

DW.COM

WWW-Links